-- पर्यावरण बचाने के लिए प्रयासरत डा. रामजीलाल ने उठाया बीड़ा

फोटो 23 संवाद सूत्र, निगदू : जिले के अलावा पानीपत, कुरूक्षेत्र, कैथल व यमुनानगर में डा. रामजीलाल द्वारा उगाई गई फूलों की पौध महकती दिखाई देगी। इसके लिए उन्होंने रविवार को निगदू के राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी विद्यालय में 21 प्रजातियों के फूलों की पौध के लिए बीज उगाए।

बता दें कि सिरसा जिले के गांव दडबी के रहने वाले डा. रामजीलाल कांबोज ने उत्तरी हरियाणा की धरती को रंग-बिरंगे फूलों से महकने का बीड़ा उठाया हुआ है, जो पिछले कई साल से पौधों को बचाने के 45 प्रजातियों के फूलों की पौध तैयार करके मुफ्त बांट चुके हैं। उनका केवल एक ही उद्देश्य है कि उत्तरी हरियाणा की धरती रंग-बिरंगे फूलों से चमके। जिसके लिए इन्होंने 3 सितंबर को यहां के राजकीय स्कूल में फूलों की पौध लगाने के लिए जगह का निरीक्षण कर चयन किया था। वह चाहते हैं कि हर गली-मुहल्ले, स्कूल, अस्पताल, मंदिर प्रांगण, धार्मिक स्थल, घरों में रंग-बिरंगे फूल महकते दिखाई दें। उनका कहना है कि नवंबर माह में फूलों की पौध तैयार हो जाएगी। पौध तैयार होते ही इसे पानीपत, करनाल, कैथल, यमुनानगर व कुरूक्षेत्र में मुफ्त दिया जाएगा। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य धर्मपाल, शारीरिक अध्यापक दिनेश चौधरी, पर्यावरण प्रेमी महिन्द्र खेडा ने सहयोग किया।

Edited By: Jagran