फोटो---43 नंबर है।

जागरण संवाददाता, करनाल:

ई-ग्राम स्वराज योजना के तहत देश के कोने-कोने तक तेज गति की इंटरनेट सुविधा देने की योजना है। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री ने सोमवार को बिहार से की है। योजना के तहत हर घर में फाइबर के माध्यम से इंटरनेट की सेवा मिलेगी। योजना पर जिले में भी तेज गति से कार्य चल रहा है, अब तक 210 गांवों में फाइबर केबल बिछाने तथा हार्डवेयर का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। अन्य उपकरण लगाने का कार्य किया जा रहा है। यह जानकारी सीएचसी के जिला प्रबंधक विनोद शर्मा व अंकुश बग्गा ने दी। उन्होंने बताया कि प्रोजेक्ट की शुरुआत में कॉमन सर्विस सेंटर की ओर से प्रत्येक गांव के सरकारी संस्थानों जैसे कि सरकारी स्कूल, अस्पताल, आगंनबाड़ी केंद्र, ग्राम सचिवालय, डाकघर आदि को पूरे एक साल तक फ्री इंटरनेट सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। इस कार्य को जल्द पूरा कर लिया जाएगा। सरकारी भवनों को कनेक्शन मिलने के बाद कोई भी व्यक्ति मामूली चार्ज देकर नियमानुसार अपने घर पर इंटरनेट कनेक्शन ले सकेगा। इस योजना के तहत हर घर फाइबर ले जाने की मुहिम शुरू हो चुकी है।

जिला प्रबंधक विनोद शर्मा ने बताया कि सरकारी संस्थानों के बाद हर घर में फाइबर तकनीक द्वारा इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध करवाएं जाएंगे। उन्होंने बताया कि कोरोना काल के चलते आजकल हर कार्य ऑनलाइन किए जा रहे हैं, इसलिए कोरोना काल में इंटरनेट की डिमांड और बढ़ गई है, विशेषकर ग्रामीण क्षेत्र में इंटरनेट की सुविधा आमजन की पहुंच से दूर है, जिसके चलते उन्हें आवेदन करने, प्रमाण पत्र बनाने, बिल जमा करवाने तथा जरूरी जानकारी हासिल करने के लिए शहरों में साइबर कैफे पर जाना पड़ रहा है। वहां लोगों को भारी भीड़ के चलते काफी इंतजार करना पड़ता है।

Edited By: Jagran