- सेक्टर-12 स्थित के थ्री सी माल के बाहर एकत्रित हुए किसानों ने किया प्रदर्शन

लघु सचिवालय का घेराव करने पहुंचे तो रास्ते में पुलिस ने रोका, किसानों ने वहीं डाल लिया डेरा फोटो---12 व 13 नंबर है। जागरण संवाददाता, करनाल:

कृषि कानूनों के विरोध में उतरे किसान सोमवार को सेक्टर-12 स्थित के थ्री सी माल के पास एकत्रित हुए। यहां पर उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद यहां से तय कार्यक्रम के अनुसार लघु सचिवालय का घेराव करने के लिए आगे बढ़े। पैदल मार्च करते हुए वह लघु सचिवालय के समीप पहुंचे तो वहां पर पहले से ही डीएसपी राजीव कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात था। किसानों ने लघु सचिवालय के बाहर ही डेरा डाल लिया। किसान नेताओं के साथ-साथ कई कर्मचारी संगठन भी इस प्रदर्शन में शामिल हो गए। उन्होंने सरकार को किसान विरोधी बताया। किसानों ने केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग उठाई। किसानों को समझाने का भी प्रयास किया जा रहा है। लेकिन किसानों का सरकार के खिलाफ हंगामा जारी है। किसानों ने कहा कि जब तक इन किसान विरोधी कानूनों का वापस नहीं लिया जाता, उनका आंदोलन चलता रहेगा। किसी भी सूरत में वह पीछे नहीं हटेंगे। दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे किसान वहां से वापस रवाना हो गए। असंध विधायक भी धरने प्रदर्शन में हुए शामिल:

सोमवार को सचिवालय के घेराव करने पहुंचे किसानों में असंध विधायक शमशेर सिंह गोगी भी शामिल हुए। उन्होंने किसानों की मांगों को जायज ठहराते हुए कहा कि सरकार की मंशा किसानों को परेशान करने की है। तीनों कृषि कानून किसानों को उजाड़ देंगे। तुरंत प्रभाव से इनको वापस लिया जाना चाहिए। प्रदर्शन में कर्मचारी संगठन भी शामिल हुए। डीसी-एसपी व विधायकों के आवास की सुरक्षा बढ़ाई:

किसानों के प्रस्तावित प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस पहले से अलर्ट थी। डीएसपी के नेतृत्व में पुलिस बल को तैनात किया गया। मुख्य धरना स्थल के साथ-साथ उन्होंने सीएम आवास, डीसी-एसपी व विधायक नीलोखेड़ी के निवासी की सुरक्षा को भी बढ़ा दिया गया। हालांकि इन जगहों पर किसान नहीं गए।

Edited By: Jagran