जागरण संवाददाता, करनाल : सिटीजन ग्रीवेंसिज कमेटी की सड़क सुरक्षा एवं नगर स्वच्छता उप समिति की बैठक मानव सेवा संघ में चेयरमैन सत्येंद्र मोहन कुमार की अध्यक्षता में हुई। बैठक में शहर की सड़कों व ई-शौचालयों की व्यवस्था पर चर्चा की गई। उपसमिति के प्रधान केएल विरमानी ने कहा कि दो घंटे की बरसात से सारा शहर जलमग्न हो गया। नालों की सफाई समय पर नहीं करवाई गई। अगर समय पर डिस्पोजल चलाया गया होता तो समस्या का हल निकाला जा सकता था। उन्होंने कहा कि सड़कें तारकोल से बनाई जा रही है। उसकी गुणवत्ता सही नहीं है। सेक्टर नौ की मेन सड़क दो महीने पहले बनी थी, जो अब टूट गई है। बैठक में आवारा पशुओं की संख्या बढ़ने और उनके लिए कोई प्रबंध न होने पर चिता जाहिर की गई। उप समिति के सचिव सोमदत्त सैनी ने कहा कि नगर निगम की लापरवाही के कारण शहर के लोग समस्याओं से जूझ रहे हैं। कमेटी समय-समय पर निगम अधिकारियों को शहर की समस्याओं से अवगत कराती है और उनके हल के सुझाव भी दिए जाते हैं।

अधिकारी केवल आश्वासन देकर चुप हो जाते हैं। कर्मचारी सही तरह से काम नहीं कर रहे। बसंत विहार और फूसगढ़ में सड़क निमरण कार्य बेहद धीमा चल रहा है। अधिकारी अब भी यह कह रहे हैं कि दो-तीन महीने इन कार्यो को पूरा करने में लगेंगे। उन्होंने कहा कि सीएम सिटी को स्मार्ट बनाने से पहले नगर निगम शहर की जनता की समस्याओं को हल कर मूलभूत सुविधाएं नियमित उपलब्ध करवाए। इस मौके पर संरक्षक प्रमोद गुप्ता, वाइस चेयरमैन केके पुरी, सीजीसी

सचिव एसके शमर, डॉ. एसके गोयल, संजय बतरा, अश्विनी गुप्ता, भीमसेन नागरू, एमएस चंदेल व प्रेम सागर हांडा मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस