-- आर्य विद्वान स्वामी संपूर्णानंद ने अभियान को सराहा

-- नगर निगम भी जल्द बनाएगा इस दिशा में कार्ययोजना जागरण संवाददाता, करनाल: दैनिक जागरण की ओर से बेसहारा पशुओं के संरक्षण के लिए चलाई जा रही मुहिम के अच्छे परिणाम सामने आने लगे हैं। पहले से ही इस दिशा में सक्रिय संस्थाएं अब दोगुने उत्साह के साथ काम कर रही हैं। इसी क्रम में प्रमुख आर्य विद्वान स्वामी संपूर्णानंद ने जल्द ही जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में गोवंश संरक्षण की मुहिम चलाने की बात कही है। वहीं, करनाल में नगर निगम की ओर से भी इसी से जुड़ी मुहिम शुरू की जाएगी। उप निगमायुक्त धीरज कुमार का कहना है कि निगम की ओर से पशुओं का चिह्नीकरण किया जा रहा है। जल्द ही निश्चित कार्य योजना के आधार पर इस दिशा में मिलकर आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

दैनिक जागरण की ओर से इन दिनों चलाए जा रहे गोवंश संरक्षित हम सुरक्षित अभियान को जिले के अलग अलग क्षेत्रों में संचालित गोशालाओं की ओर से भी भरपूर समर्थन दिया जा रहा है। असंध, निसिग, तरावड़ी के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी लोग लगातार आगे आकर जागरण के स्वर से स्वर मिला रहे हैं। इसी क्रम में शहर से करीब 15 किलोमीटर दूर स्थित अपने आश्रम की गोशाला में गोवंश संरक्षण कर रहे स्वामी संपूर्णानंद ने बताया कि दैनिक जागरण के प्रयास निस्संदेह बेहद सकारात्मक और आवश्यक हैं। इससे उन सभी संस्थाओं व व्यक्तियों के मनोबल में वृद्धि हुई है, जो पहले से व्यापक स्तर पर गोवंश संरक्षण के प्रयासों में जुटे थे। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी गोवंश सही प्रकार से संरक्षित नहीं होने के कारण ही कई बार दुखद हादसे देखने को मिलते हैं। इसी के दृष्टिगत वह लगातार अपने आसपास के क्षेत्रों में लोगों को इस संदर्भ में यथासंभव जागरुक करने का पूरा प्रयास करते हैं। इसके बावजूद अभी भी काफी लोगों का रुख इसे लेकर गंभीर नहीं है। ऐसे में वह जल्द ही समाज के जागरुक लोगों को साथ लेकर व्यापक स्तर पर ग्रामीण क्षेत्रों में गोवंश संरक्षण के लिए ठोस प्रयासों में तेजी लाने और दैनिक जागरण की मुहिम में सक्रिय भागीदारी करने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। सुखद है गोवंश की सेवा

स्वामी संपूर्णानंद ने बताया कि गोवंश की सेवा में उन्हें असीम सुख की अनुभूति होती है। इसी भाव के साथ उन्होंने अपनी गोशाला में देसी नस्लों का काफी गोवंश रखा हुआ है, जिनका पूरा ध्यान रखा जाता है। विदेशी नस्लों के बजाय देसी नस्लों के संरक्षण पर विशेष ध्यान देते हुए पूर्ण समर्पण की भावना के साथ कार्य किया जाना चाहिए। गोमाता के आशीर्वाद से हर प्रकार का संकट मिट जाता है। इसलिए सभी आगे आएं और बेसहारा गोवंश को संरक्षित करने से जुड़े इन प्रयासों में सक्रियता से भागीदार बनें। गोवंश किया गया चिह्नित: डीएमसी

गोवंश संरक्षण के लिए दैनिक जागरण के प्रयास सराहनीय हैं। नगर निगम जल्द ही इस दिशा में आवश्यक कदम उठाएगा। हाल में दैनिक जागरण के ही आह्वान पर रात के समय अलग अलग क्षेत्रों में बेसहारा गोवंश चिह्नित किया गया है। अब इनके संरक्षण के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार करके जल्द ही ठोस प्रयास किए जाएंगे।

-धीरज कुमार, उप निगमायुक्त, करनाल।

Edited By: Jagran