जागरण संवाददाता, करनाल: जिले में पूरे दिन बूंदाबांदी का सिलसिला जारी रहा। दिनभर झड़ी लगी। रुक-रुककर बरसात होती रही। मौसम विभाग के मुताबिक करनाल में 20.0 एमएम बरसात दर्ज की गई है। इंद्री में 12.0 एमएम व मूनक में सबसे ज्यादा 36 एमएम बरसात दर्ज की गई है। बरसात से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

अधिकतम तापमान गिरावट के साथ 28.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं न्यूतनम तापमान भी 25.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह के समय नमी की मात्रा 100 फीसदी दर्ज की गई, शाम के समय भी स्थिति यथावत बनी रही। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में बूंदाबांदी का दौर जारी रहेगा। 13 सितंबर तक यही स्थिति बनी रह सकती है।

इस समय देशभर में यह बना मौसमी सिस्टम

इस समय पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। संबंधित चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 7.6 किमी तक है और ऊंचाई के साथ दक्षिण की ओर झुक रहा है। यह निम्न दबाव का क्षेत्र अगले 48 घंटों में पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर बढ़ सकता है और सशक्त होकर डिप्रेशन में तब्दील हो सकता है। पूर्वी राजस्थान के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र है और संबंधित चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है, जो ऊंचाई के साथ दक्षिण-पश्चिम की ओर झुका हुआ है। मानसून की टर्फ जैसलमेर, पूर्वी राजस्थान के ऊपर बने हुए टीम दबाव के केंद्र से होते हुए बालासोर और फिर दक्षिण पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र से गुजर रही है। एक टर्फ रेखा पूर्वोत्तर अरब सागर से गुजरात होते हुए पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी तक फैली हुई है।

Edited By: Jagran