संवाद सहयोगी, घरौंडा : कुताना चौक पर डीजल से भरे टैंकर में वेल्डिंग करते समय अचानक आग लग गई। टैंकर डीजल से भरा हुआ था। टैंकर में आग लगने से आस-पास काम कर रहे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। घटना की सूचना पुलिस व फायर ब्रिगेड विभाग को दी गई। सूचना के बाद घरौंडा व पानीपत की फायर गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जिससे एक बड़ा हादसा टल गया। पुलिस ने टैंकर को अपने कब्जे में ले लिया है।

बुधवार दोपहर रिफाइनरी से एक टैंकर डीजल भरकर गुरुग्राम के लिए रवाना हुआ था। टैंकर चालक टैंकर में वेल्डिग करवाने के लिए रिफाइनरी के नजदीक कुताना चौक पर रुका। वेल्डिग करते समय डीजल से भरे टैंकर में अचानक जबरदस्त आग लग गई। आग लगते ही आसपास से क्षेत्र में हड़कंप मच गया और सैकड़ों की संख्या में लोग मौके पर एकत्रित हो गए। रिफाइनरी, पानीपत और घरौंडा दमकल विभाग की गाड़ियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग की सूचना मिलते ही रिफाइनरी मार्केटिग डिवीजन के अधिकारी और पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा। हादसा के बाद से टैंकर चालक और मिस्त्री मौके से फरार हो गए। पुलिस ने टैंकर को अपने कब्जे में ले लिया। अभी तक किसी ने इस बारे लिखित में कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाई। उधर डीजल से भरे टैंकर में वेल्डिग करवाना कई सवाल खड़े करता है। मसलन, आखिर डीजल से भरे टैंकर में वेल्डिग करवाने की क्या जरुरत आन पड़ी? पहले हुआ था हादसा, चार लोगों की गई थी जान

लगभग एक वर्ष पहले कुताना चौक पर ही एक टैंकर में वेल्डिग करते समय जबरदस्त ब्लास्ट हुआ था। उस हादसे में दुकान मालिक मिस्त्री पिता-पुत्र के साथ-साथ दो अन्य व्यक्तियों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इतने बड़े हादसे के बाद भी मिस्त्री और ड्राईवर अपनी जान के साथ-साथ आसपास के क्षेत्र के लोगों की जान जोखिम में डालकर अवैध रुप से वैल्डिग के इस काम को अंजाम दे रहे हैं।

Edited By: Jagran