जागरण संवाददाता, करनाल : नगर निगम की ओर से अपनी सीमा में शामिल सरकारी जमीन पर कब्जे हटवाने की मुहिम जोर-शोर से जारी है। वीरवार को डीसी निशांत कुमार यादव के आदेश पर निगम क्षेत्र के गांव सैदपुरा में सरकारी जगह पर हुए तीन कब्जों को हटवाने की कार्रवाई की गई। सैदपुरा में जयपाल नामक व्यक्ति ने अपना पक्का मकान बनाया था, जिसमें किसी कारणवश सरकारी जमीन का एक हिस्सा कब्जा लिया गया था। दूसरी ओर जितेंद्र नाम के एक अन्य व्यक्ति ने भी गांव की काश्त योग्य कुछ भूमि पर कब्जा करके उसमें बिजाई कर दी थी। तीसरा कब्जा कुलदीप सिंह व्यक्ति ने एक धार्मिक स्थल की बाउंड्री वाल को बढ़ाकर किया गया था। इनमें रोचक बात यह रही कि जयपाल नाम के कब्जाधारी ने पहले नगर निगम और फिर मुख्यमंत्री के जन सुनवाई कार्यक्रम में कब्जों को हटाने की गुहार भी लगाई थी। इसके बाद नगर निगम ने तीनों जगह से कब्जे हटाने का प्लान बनाया।

वीरवार को तहसीलदार राजबक्श के नेतृत्व में पुलिस बल को साथ लेकर निगम के डैमोलिशन स्कवाड ने सैदपुरा गांव पहुंचकर कब्जे हटवाने की कार्रवाई की। इस बीच कुछ विरोध भी हुआ, लेकिन भारी पुलिस बल के चलते कब्जाधारियों की एक ना चली और देखते ही देखते जेसीबी की मदद से सभी अवैध निर्माण गिरा दिये गये। ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के बाद नगर निगम की ओर से चेतावनी भी दी गई कि यदि किसी ने सरकारी जमीन पर पुन: कब्जा करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। डैमोलिशन स्कवाड में डीटीपी विक्रम कुमार, नायब तहसीलदार रामकुमार, भवन निरीक्षक राजेश कुमार व विकास अरोड़ा, पटवारी भरत सिंह, क्लर्क अविनाश शर्मा तथा स्टाफ में कुलदीप और ललित आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran