करनाल [एएनआइ]। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को सलाह देते हुए कहा कि अगर पड़ोसी देश उसके यहां पनप रहे आतंकवाद को लेकर गंभीर है तो भारत उसकी मदद करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो भारत इस संबंध में अपने सशस्त्र बलों को पाकिस्तान भेजनेे लिए भी तैयार है।

राजनाथ सिंह ने कहा, "मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को एक सुझाव देना चाहता हूं। यदि आप आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए गंभीर हैं तो हम आपकी सहायता करेंगे। यदि आप हमारी सेना चाहते हैं तो हम उन्हें आपकी मदद के लिए भेज देंगे।" राजनाथ सिंह यहां चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 

रक्षा मंत्री ने कहा, "मैं इमरान खान का भाषण सुन रहा था, जहां उन्होंने कहा था कि जब तक कश्मीर को आजादी नहीं मिल जाती हम इस पर अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उनका देश कश्मीर के मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाता रहेगा। कश्मीर के बारे में भूल जाओ। इसके बारे में भी मत सोचो। कोई भी हम पर दबाव नहीं डाल सकता है।”

राजनाथ सिंह ने कहा, ''आपने 1947 में भारत को दो-राष्ट्र सिद्धांत के भाग के रूप में दो भागों में विभाजित किया, लेकिन 1971 में, आपका देश फिर से दो टुकड़ों में विभाजित हो गया। और अगर यही स्थिति बनी रहती है, तो कोई भी शक्ति पाकिस्तान को आगे टूटने से नहीं रोक सकती है।” रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सक्षम देश किसी भी दुस्साहस का करारा जवाब दे रहा है।

कांग्रेस बिना सोचे विचारे कर रही आलोचना, इससे मिलती है पाक को ताकत

राफेल विमान की शस्त्र पूजा करने को लेकर उठे सवाल पर विपक्ष की आलोचना का जवाब देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ''मेरा जन्म एक साधारण परिवार में हुआ। हमारे यहां शुभ काम से पहले पूजा पाठ की पद्धति है। किसी भी चीज का प्रयोग करने से पहले पूजा करनी चाहिए। मैंने पहले ऊं लिखा, नारियल फोड़ा और फिर रक्षा सूत्र बांधा। इसमें क्या गलत है।'' राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस के लोग बिना सोचे विचार आलोचना करते हैं। कांग्रेस के बोलने के कारण पाकिस्तान के लोगों को ताकत मिलती है।

करनाल में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने जनता से पूछा कि क्या उनके घरों में ऊं नहीं लिखा जाता, क्या सिख एक ओंकार नहीं कहते, क्या मुस्लिम आमीन नहीं कहते। इसमें क्या गलत है, लेकिन कांग्रेस लोग इसे सांप्रदायिक बता रहे हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि जब उन्होंने पूजा की तो उस समय वहां पर सभी धर्मों के लोग मौजूद थे। कांग्रेस के लोगों को इसका स्वागत करना चाहिए, लेकिन यह पार्टी बिना सोचे विचारे आलोचना कर रही है। इसलिए जनता को कांग्रेस को मुंह तोड़ जवाब देना चाहिए।

रक्षा मंत्री ने कहा, ''अगर पहले हमारे पास राफेल लड़ाकू विमान होता तो मुझे लगता है कि हमें बालाकोट एयर स्ट्राइक के लिए पाकिस्तान जाने की जरूरत नहीं थी। हम भारत में बैठकर भी वहां आतंकी शिविरों को खत्म कर सकते थे।'' चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने मनोहर लाल सरकार के कामों की जमकर तारीफ की। कहा कि वह कह सकतेे हैं कि हरियाणा के पिछले सीएम के विपरीत मनोहर लाल ने जमीनी स्तर पर काम किया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप