जागरण संवाददाता, करनाल : बेसहारा पशुओं को गोशाला तक पहुंचाने के दावों के बीच सड़कों पर फिर गोवंश नजर आने लगा है। कई दिन तक नगर निगम द्वारा गंभीरता से अभियान चलाने की वजह से कई बेसहारा पशुओं को गोशाला तक पहुंचाया गया, लेकिन अब निगम की टीम सुस्त पड़ती नजर आ रही है। यही वजह है कि शहर के कई क्षेत्रों में गोवंश होने की बात सामने आ रही है। सड़कों पर बेसहारा पशु हादसों का कारण बन सकते हैं तो साथ ही वह खुद भी वाहन की चपेट में आकर चोटिल हो सकते हैं। नगर निगम का दावा है कि शहर से सभी बेसहारा पशुओं को गोशाला तक पहुंचाने की मुहिम जारी है। शहर में जहां भी बेसहारा पशु हैं, उन्हें गोशाला भेजने का काम लगातार जारी है। दैनिक जागरण की ओर से गोवंश संरक्षित-हम सुरक्षित मुहिम लगातार आगे बढ़ रही है। जिला प्रशासन, नगर निगम व नगर पालिका इस अभियान में पूरा सहयोग कर रही है। यही वजह है कि पूरे जिले में गोवंश को गोशालाओं तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। लेकिन इसी बीच में निगम टीम द्वारा किए जा रहे कार्य में सुस्ती भी नजर आ रही है। शहर के सेक्टर एरिया में बेसहारा गोवंश होने की शिकायतें सामने आ रही है। सेक्टर आठ व सेक्टर सात की मुख्य सड़क पर बेसहारा पशु होने से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही अशोका नर्सरी में अभी भी चार पशुओं को निगम की टीम नहीं पकड़ पाई है। एडवोकेट कर्ण सिंह का कहना है कि निगम के अधिकारी भले ही गोवंश को संरक्षित करने के लिए गंभीर हो, लेकिन कर्मचारी इसे ठीक से अमलीजामा नहीं पहना रहे हैं। इस कार्य में ढिलाई बरतने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए। उप नगर निगम आयुक्त धीरज कुमार का कहना है कि गोवंश को पकड़ने के लिए अभियान जारी है। शहर के सेक्टर एरिया व अशोका नर्सरी में बेसहारा पशु हैं तो उन्हें भी गोशाला तक पहुंचाया जाएगा।

Edited By: Jagran