जागरण संवाददाता, करनाल: शहर में अवैध कालोनियों का मामला गर्मा गया है। अवैध कालोनियों के मुद्दे का असर निगम हाउस की बैठक पर भी आया। शुक्रवार को निगम हाउस की बैठक प्रस्तावित थी, लेकिन इसे स्थगित कर दिया है। बैठक स्थगित करने की वजह प्रशासनिक कारणों को बताया जा रहा है, लेकिन असल में अवैध कालोनियों का मुद्दा हाउस की बैठक में प्रमुखता से उठने की पूरी उम्मीद थी।

निगम हाउस की बैठक में शहर के विकास कार्यों और समस्याओं पर चर्चा होनी। इसके साथ ही शहर के विकास कार्यों को लेकर प्लान भी तैयार होना था। लेकिन इन दिनों शहर में अवैध कालोनियों का मामला गर्माया हुआ है। दैनिक जागरण ने सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित कर अवैध कालोनियों के मामले को उठाया गया और बताया कि किसी तरह से भूमाफिया और अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध कालोनियां गुलजार हो रही हैं। कार्रवाई करते समय पथराव तक हो गया

अवैध कालोनियों के कटने की जानकारी होने के बाद जब गरीब इनमें अपने घर बनाने शुरू कर देते हैं, उन निर्माण को ढहाने नगर निगम का दस्ता पहुंच जाता है। इसी तरह की कार्रवाई कुछ दिन पहले बुड्ढाखेड़ा गांव के पीछे बस रही अवैध कालोनी में हुई तो इसका विरोध वार्ड नंबर दो के पार्षद बलविद्र सिंह ने की। उनकी डीटीपी विक्रम से गर्मागर्मी भी हो गई। इसके बाद निर्माण ढहाने गई टीम पर पथराव हो गया था। डीटीपी ने पार्षद पर कराया था केस दर्ज

इस पर डीटीपी ने पार्षद पर एफआइआर दर्ज करा दी थी। उसी रात पार्षद की गिरफ्तारी भी हो गई थी। इसके बाद से अवैध कालोनी का मुद्दा पूरी तरह से गर्मा गया। इसी बीच में निगम हाउस की बैठक की तारीख भी नजदीक आ गई। शुक्रवार को बैठक होनी तय थी, लेकिन इसे स्थगित कर दिया गया है। पार्षदों को शुक्रवार सुबह मोबाइल पर संदेश भेजा कि प्रशासनिक कारणों की वजह से बैठक स्थगित की गई। सच्चाई यह है कि यदि शुक्रवार को यह बैठक होती तो पार्षद अवैध कालोनियों के मुद्दे पर अधिकारियों को घेर लेते। इस स्थिति को टालने की वजह से ही बैठक को स्थगित किया गया है। पार्षद वीर विक्रम कुमार ने बताया कि शुक्रवार सुबह मोबाइल पर बैठक स्थगित होने का संदेश आया। इसमें कहा गया कि प्रशासनिक कारणों की वजह से बैठक स्थगित की जा रही है। उठ सकता था पार्षद की गिरफ्तारी का मुद्दा

निगम हाउस की बैठक में पार्षद बलविद्र सिंह की गिरफ्तारी का मामला भी उठ सकता था। इस मसले पर कुछ पार्षद मुखर भी हो सकते थे। ऐसे में यह भी माना जा रहा है कि बैठक में हंगामे की स्थिति को टालने की वजह से बैठक को स्थगित किया गया है।

Edited By: Jagran