जागरण संवाददाता, करनाल

विश्व जनसंख्या दिवस पर कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज में कम्यूनिटी मेडिसन विभाग की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. राजेश गर्ग ने बताया कि 11 जुलाई 1987 को विश्व की आबादी 5 अरब हो गई थी। उसके बाद से ही सन 1989 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा हर वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के तौर पर मनाए जाने का फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया की करीब 17 प्रतिशत आबादी रहती है जिसका मतलब है कि दुनिया का हर छठा व्यक्ति भारतीय है। इसी रफ्तार से अगर आबादी बढ़ती रही तो वर्ष 2050 तक विश्व की आबादी तकरीबन 10 अरब तक पहुंच जाएगी और ऐसे में प्राकृतिक संसाधनों की बेहद कमी से होने वाले दुष्परिणामों की कल्पना करना ज्यादा मुश्किल काम नहीं है। बढ़ती जनसंख्या चिता का विषय है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस