जागरण संवाददाता, करनाल : आशा वर्कर यूनियन ने सरकार द्वारा समझौता लागू न किए जाने के विरोध में सीएमओ कार्यालय में धरना दिया। आशा वर्करों का कहना है कि सरकार उनके साथ धोखा कर रही है। समझौता करने के बाद मांगों को तुरंत लागू किया जाना चाहिए था। सोमवार को धरने की अध्यक्षता सग्गा पीएचसी प्रधान मंजू ने की। संचालन सीटू नेता ओपी माटा ने किया। इस मौके पर रोशनी ने कहा कि दो दिन पहले सीएमओ ने आशा वर्करों से कहा कि मशीनें लेकर जाएं और घर-घर जाकर कोरोना टेस्ट करें मगर सीएमओ मास्क, सैनिटाइजर व अन्य जरूरत की सामग्री देने के लिए तैयार नहीं हैं। आशा वर्करों की विभाग को कोई चिता नहीं है। इस अवसर पर अशोक पांचाल, लक्ष्मी, सुमन व रोशन लाल गुप्ता मौजूद रहे।

Edited By: Jagran