जागरण संवाददाता, करनाल : अतिरिक्त उपायुक्त वीना हुड्डा ने बताया कि परिवार पहचान-पत्र बनवाने वाले परिवारों के लिए प्रक्रिया का सरलीकरण कर दिया गया है। अब केवल नाम, मोबाइल नंबर और आधार कार्ड के माध्यम से परिवार पहचान पत्र बनवाए जा सकेंगे।

इसके लिए संबंधित परिवार के मुखिया को अपने नजदीकी सीएससी में जाकर आवेदन करना होगा। एडीसी बुधवार को एडीसी कार्यालय में परिवार पहचान पत्र के संबंध में जिला में हुई प्रगति की समीक्षा कर रही थी। उन्होंने बताया कि परिवार पहचान पत्र हर परिवार के लिए जरूरी दस्तावेज है। इसके माध्यम से ही हरियाणा सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि करनाल जिला में अब तक 4 लाख 13 हजार 380 परिवारों में से 3 लाख 52 हजार 105 परिवारों के परिवार पहचान पत्र बनाए जा चुके है। उन्होंने अपील की कि शेष 61 हजार 275 परिवार भी परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए आगे आए और अपने नजदीकी सीएससी सेंटर में संपर्क करें।

उन्होंने करनाल नगर निगम क्षेत्र में भी रहने वाले ऐसे परिवार जिनका अभी तक परिवार पहचान पत्र नहीं बना है, उनकी संख्या 34 हजार 437 है। उन्होंने कहा कि शहर में रहने वाले लोगों के पास सभी सुविधा होने के बावजूद भी वह अपना परिवार पहचान पत्र नहीं बनवाते, यह काफी सोचने का विषय है। उन्होंने सभी से अपील की है कि आने वाले एक सप्ताह में अपना परिवार पहचान पत्र अवश्य बनवाएं। सरकारी योजनाओं का लाभ इसी आधार पर मिलेगा। इस अवसर पर डीआइओ महिपाल सीकरी, पीओ संगीता मेहता, सीएम जीजीए अमृता दातला मौजूद रही।

Edited By: Jagran