जागरण संवाददाता, करनाल : कोरोना संकट काल के बीच नागरिक अस्पताल में डेपुटेशन पर तैनात किए गए कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज एवं अस्पताल के स्टाफ में से करीब 70 फीसद स्टाफ को रिलीव कर दिया है। अब यह स्टाफ मेडिकल कालेज में ही अपनी सेवाएं देंगे। नागरिक अस्पताल के प्रधान चिकित्सा अधिकारी डा. अश्विनी आहुजा ने बताया कि मेडिकल कालेज को कोविड अस्पताल घोषित होने के बाद से नागरिक अस्पताल में यह स्टाफ आया था, संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए नागरिक अस्पताल में ही गायनी व बच्चों की ओपीडी शुरू कर दी गई थी। गायनी विभाग पूरी तरह से नागरिक अस्पताल में ही चल रहा था। पीएमओ डा. अश्विनी आहुजा ने कहा कि अब नई व्यवस्था के अनुसार कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में ही गायनी विभाग को पूरी तरह से वर्किंग में लाया जा रहा है। बुधवार से वहां पर सेवाएं शुरू की जा रही हैं। बच्चों की ओपीडी व उससे संबंधित पूरा इलाज कालेज में मिलेगा। यह होगा फायदा

गायनी व न्यू बोर्न चाइल्ड सुविधा अब फिर से दो जगह हो गई है। कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज में लोगों को पहले की भांति सुविधाएं मिलनी शुरू हो जाएंगी। चूंकि नागरिक अस्पताल में गायनी रोग विशेषज्ञों की कमी है, इसलिए मेडिकल कालेज में भी फिर से वर्किंग शुरू हो जाने से मरीजों को परेशानी नहीं होगी। लोग आसानी से अपना इलाज करा सकते हैं। प्रधान चिकित्सा अधिकारी डा. अश्विनी आहुजा ने कहा कि करीब 70 फीसदी स्टाफ को हमने रिलीव कर दिया है। गायनी व न्यू बोर्न चाइल्ड की सुविधाएं अब कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कालेज में भी शुरू हो गई हैं। धीरे-धीरे बाकी स्टाफ को भी रिलीव कर दिया जाएगा। हम व्यवस्था ऐसी कर रहे हैं कि मरीज को परेशानी ना हो।

Edited By: Jagran