संवाद सहयोगी, घरौंडा : बेहतर बिजली सप्लाई के लिए पावर हाउसों की क्षमता बढ़ाई जा रही है। शहरी बिजली वितरण निगम में ना सिर्फ 33 केवी का एक ओर पावर हाउस स्थापित किया जाएगा, बल्कि पुराने पावर हाउस की क्षमता को भी बढ़ाया जाएगा। पावर हाउस की प्रपोजल को विभाग की हरी झंडी मिल चुकी है, जिसके बाद घरौंडा क्षेत्रवासियों को दूसरे पावर हाउस की भी सौगात मिल जाएगी।

शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में रिहायशी रकबा बढ़ता जा रहा है, जिससे बिजली की खपत भी बढ़ रही है और पावर हाउसों पर लोड बढ़ता जा रहा है। लोड बढ़ने के कारण सप्लाई भी बाधित होती है। गर्मियों के दिनों में दिक्कत ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में अब बिजली निगम ने पावर हाउस की क्षमता को बढ़ाने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। घरौंडा बिजली वितरण निगम में दूसरे 33 केवी के पावर हाउस का निर्माण शुरू होगा। जिसकी क्षमता 10 एमवीए तक होगी। फिलहाल घरौंडा में एक 33 केवी का पावर स्थापित है, जिसकी क्षमता 20 एमवीए है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार, 33केवी के पुराने पॉवर हाउस की क्षमता को भी बढ़ाकर 25 एमवीए किया जाएगा। नया पावर हाउस बनने से लोड कम होगा और उपभोक्ताओं को बिना बाधा के बिजली सप्लाई उपलब्ध होगी। चूंकि शहर के बढऩे से बिजली डिमांड भी बढ़ रही है तो भविष्य में पावर लोड को लेकर भी दिक्कतें सामने नहीं आएगी। कृषि क्षेत्र की पावर सप्लाई में भी होगा बढ़ा फायदा

फीडर छोटे होंगे तो सप्लाई भी बेहतर होगी। घरौंडा के 33 केवी व 132 केवी पावर हाउस से कृषि क्षेत्र में बिजली की सप्लाई होती है। मौजूदा समय में ट्यूबवैलों को तीन ग्रुपों में बिजली की सप्लाई मिल रही है। जिसमें अलग-अलग समय निर्धारित किया जाता है। ऐसे में ट्यूबवेलों को सिगल ग्रुप में ही पॉवर सप्लाई मिलेगी और किसानों को दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

शहरी बिजली वितरण निगम घरौंडा के एसडीओ राजीव कुमार ने बताया कि 33केवी का एक ओर पावर हाउस 2021-22 के लिए प्रस्तावित है। जिसकी स्वीकृति मिल चुकी है और आने वाले कुछ महीनों में पावर हाउस का काम शुरू हो जाएगा। नए पावर हाउस की क्षमता 10 एमवीए होगी। पुराने पॉवर हाउस को 20 से 25 एमवीए किया जाएगा। बिजली की बढ़ती डिमांड को देखते हुए पावर हाउस की क्षमता बढ़ाई जा रही है।

Edited By: Jagran