जागरण संवाददाता, करनाल : कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा है कि प्रदेश में दलित और पिछड़ा वर्ग सुरक्षित नहीं है। सीएम सिटी में भी जब दलित सुरक्षित नहीं है। तो प्रदेश का क्या हाल होगा। यहां पर दलितों पर दबंग लगातार अत्याचार कर रहे हैं। यदि यह बंद नहीं हुए तो कांग्रेस इस मुद्दे को लोकसभा और विधानसभा में उठाएंगी। उन्होंने कहा कि करनाल में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है। अपराध लगातार बढ़ रहे हैं। इसके कारण लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर करनाल के बजीदा जट्टान गांव में दलित समाज के लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश सचिव एवं वरिष्ठ नेता पंकज पूनिया एवं नीटू मान, ज्ञान सहोता, कृष्ण बसताड़ा, सरपंच अशोक, हरपाल चंदेल, कृष्ण कुटेल, देवेंद्र बबली समेत कई नेता मौजूद थे।

कार्यक्रम के दौरान संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा कि कांग्रेस के रहते हुए उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। उनके लिए हर स्तर पर लड़ाई लड़ी जाएगी। भले ही वह किसी भी कीमत पर लड़ी जाए। उन्होंने कहा कि आपसी भाईचारा हर कीमत पर बनाए रखना चाहिए। प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने यहां के दलितों से बातचीत की। यहां पर अंबेडकर भवन को लेकर विवाद चल रहा है। पहले भी कुटेल में रामकिशन के परिवार पर एक वर्ग विशेष के लोगों ने हमला बोला था। यहां पर विधायक के परिजनों की भूमिका संदिग्ध रही। यहां पर रामकिशन के परिजन भी आए हुए थे। उनका कहना था कि विधायक उन्हें सुरक्षा देने में विफल रहे हैं। जब वह विधायक के पास पहुंच जाते हैं तो विधायक उन्हें सुरक्षा देने के बजाय टरका देते हैं। इस पर अशोक तंवर ने कहा कि सभी की यहां पर पोल खुल चुकी है। भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है।

इस अवसर पर हरपाल चंदेल, पूर्व विधायक नरेश शर्मा, मुनीष परवेज राणा, सुखराम बेदी, कांग्रेस नेत्री संतोष कैरोलिया, कृष्ण बसताड़ा, अशोक, देवेंद्र बबली, राजेश अमृतसर, शमशेर गोगी, प्रदीप शर्मा, सुरेश दहिया, देवेंद्र, रामेश्वर व योगेंद्र मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस