Move to Jagran APP

वकीलों को जमीन देने पर करेंगे विचार : सीएम

जागरण संवाददाता, करनाल : मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि वादी और परिवादी को अदालत के बाहर ही उ

By Edited By: Published: Wed, 26 Nov 2014 07:53 PM (IST)Updated: Wed, 26 Nov 2014 07:53 PM (IST)

जागरण संवाददाता, करनाल : मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि वादी और परिवादी को अदालत के बाहर ही उनके झगड़ों का निपटारा करवा देने वाले भी सफल वकील होते है। वकीलों को चाहिए कि वह समाज के अन्य वर्गो के लोगों के साथ-साथ गरीब वर्ग के लोगों को भी सस्ता न्याय दिलाने में उनकी कानूनी सहायता करें।

loksabha election banner

उन्होंने सेक्टर 12 स्थित न्यायिक परिसर में बार एसोएिसशन की ओर से कानून दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में विचार व्यक्त किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यायपालिका, विधायिका और कार्यपालिका लोकतंत्र का मुख्य आधार स्तंभ माने जाते है। मीडिया को चौथे स्तर का दर्जा दिया गया है जबकि सामाजिक संस्थाओं को सामाजिक दृष्टि से पांच स्तंभ माना जाता है। इसलिए समाज के हर उस व्यक्ति को जो लोकतात्रिक प्रणाली में विश्वास रखता है, इनका सम्मान करना चाहिए। वकील और डाक्टर तो विश्वास के ही होने चाहिए ताकि ईलाज और न्याय आशानुरूप मिल सके।

सीएम ने कहा कि देश का संविधान विस्तृत है, लेकिन इसमें समय-समय पर देश की स्थिति के अनुसार संशोधन भी हुए है। यह संशोधन समाज के लोगों और देश की स्थिति के मद्देनजर रखकर किए गए है। समाज के हर व्यक्ति को कानून की कद्र करनी चाहिए। उन्होंने महात्मा गाधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री, मदन मोहन मालवीय सहित अन्य देशभक्तों को भी याद किया।

मुख्यमंत्री ने बार एशोशिएसन के अध्यक्ष राजकुमार चौहान की ओर से चैंबर निर्माण के लिए अतिरिक्त जमीन की माग पर कहा कि सेक्टर 12 में बनने वाले प्रस्तावित बस अड्डे को बाहर ले जाया जा रहा है। वहा पर जो जमीन है, उसमें से कुछ जमीन वकीलों को देने के लिए विचार किया जाएगा। उन्होंने 26 वरिष्ठ वकीलों को प्रशस्ती पत्र और शाल भेंट कर सम्मानित किया।

बार के प्रधान राजकुमार सहित पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल, राज्यमंत्री कर्णदेव काबोज, असंध के विधायक सरदार बक्शीश सिंह, नीलोखेड़ी के विधायक भगवानदास कबीर पंथी, घरौंड़ा के विधायक हरविंद्र कल्याण, मेयर रेणू बाला गुप्ता व भाजपा के जिला अध्यक्ष अशोक सुखीजा को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री आइडी स्वामी, पूर्व मंत्री शशिपाल मेहता, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजकुमार भारद्वाज, ओएसडी जवाहर यादव, करनाल कैंप हाउस के ओएसडी अमरेंद्र सिंह, आयुक्त रोहतक मंडल चंद्रप्रकाश, सीनियर डिप्टी मेयर कृष्ण गर्ग, जगमोहन आनंद, जनक पोपली, संजय मदान, शमशेर नैन, प्रदेश मंत्री चंद्र प्रकाश कथूरिया व दीपक धवन मौजूद रहे।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.