जागरण संवाददाता, कैथल :

प्रदेश की सरकार बनाने के लिए मतदान में महिलाओं की भी काफी अधिक भागेदारी रही है। सोमवार को हुए मतदान में महिला वोटर भी काफी उत्साहित दिखीं। वहीं ग्रामीण इलाकों में स्थित बूथों पर महिलाएं घूंघट में वोट डालने के लिए पहुंची।

महिलाओं का कहना था कि महिलाओं की सुरक्षा काफी गंभीर मुद्दा है। इसके साथ महिलाओं की भागेदारी हर क्षेत्र में हो, इसलिए वे सरकार बनाने के लिए अपने मत का प्रयोग करने के लिए आई है।

शहर का बूथ हो या गांव का, बूथों पर मतदान करने के लिए पुरुषों से अधिक महिलाएं लंबी कतार में लगी दिखाई दी। वहीं महिलाओं का कहना था कि महिलाए किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं है। ऐसे में मतदान करने में कैसे पीछे रह जाती। गांव बलवंती और क्योड़क में महिलाएं घूंघट में मतदान करने के लिए पहुंची।

मतदान करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी

ओमप्रभा जैन स्कूल के मतदान केंद्र में मतदान करने के लिए पहुंची नीलम, रीना, निशा और परमजीत ने कहा कि मतदान करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है। इसलिए हर चुनाव में मतदान करने के लिए वह मतदान केंद्र पर जरूर पहुंचती है। वैसे तो महिलाओं से संबंधित काफी समस्याएं है, जिसका समाधान होना चाहिए। महिलाओं की हर क्षेत्र में भागेदारी है तो महिलाओं को मतदान करने में पीछे नहीं रहना चाहिए। इसके साथ अच्छी पार्टी के सत्ता में आने के बाद उनकी शिक्षा और रोजगार के अवसर मिल सके।

घूंघट में मतदान करने पहुंची महिलाएं

गांव बलवंती में घूंघट में मतदान करने पहुंची महिला निर्मला, ऊषा, रीना, अंजू सीता ने बताया कि शहरी क्षेत्र में महिलाओं का बोलबाला अधिक है, लेकिन ग्रामीण अंचल में भी महिलाओं का रुझान सरकार बनाने के लिए मतदान करने में कम नहीं रहता है। उन्होंने बताया कि वोट के माध्यम से ही हम अपने जन प्रतिनिधि को चुनते है, जो बेहद अच्छा माध्यम है। शहरों की तर्ज पर गांव में भी सुधार हो, इसी उद्देश्य से वोट दिया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप