संवाद सहयोगी, राजौंद : गांव बिरथे बाहरी के राजकीय माध्यमिक विद्यालय के दो कमरे जर्जर हो चुके हैं। कमरों की छतों से सरिए साफ दिखाई दे रहे हैं। छत के टुकड़े अपने आप ही गिर रही है, जिससे कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है। डर के साये में बच्चे पढ़ाई करने को मजबूर हैं। स्कूल में छोटे बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं, जो इन कमरों में बैठ कर पढ़ाई करते हैं। बच्चों के अभिभावक सुभाष, सिद्र, मुकेश, रामफल, पाला राम ने बताया कि स्कूल में बने दो कमरे कंडम हो चुके हैं। स्कूल के अध्यापकों को वे कई बार इस बात से अवगत करवा चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अगर जल्द से जल्द कमरों की छतों को ठीक नहीं किया गया तो कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। अगर कोई बड़ी घटना हो जाती है तो उसका जिम्मेदार स्कूल व जिला प्रशासन ही होगा। खंड शिक्षा अधिकारी राजकुमार तुषार ने बताया कि इस बारे में स्कूल के मुख्याध्यापक से जानकारी ली जाएगी। जानकारी लेकर जल्द से जल्द समस्या का समाधान करवाने का प्रयास किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran