जागरण संवाददाता, कैथल : अखिल भारतीय कांग्रेस कोर कमेटी सदस्य रणदीप ¨सह सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राफेल मामले में जेपीसी की जांच से डर रहे हैं। मामले की जेपीसी जांच होनी चाहिए तभी खुलासा होगा। वे किसान भवन में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने कहा कि राफेल सौदे का मामला अनुच्छेद 132 और 32 से जुड़ा है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट विमान के मूल्य और सौदे की प्रकिया से जुड़ी संवेदनशील रक्षा अनुबंध पर फैसला नहीं दे सकता। इस मामले की सिर्फ जेपीसी से जांच कराई जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने उस बात पर मुहर लगा दी जो कांग्रेस पार्टी कई महीनों से कहती आ रही थी। कोर्ट ने कहा है कि वह हर परत की जांच करने में सक्षम नहीं है। कोर्ट में राफेल डील की परतें खोलने की ताकत नहीं है। जेपीसी में बीजेपी के लोगों का बहुमत होगा। राफेल की फाइलें जेपीसी के पास आएंगी और लूट व भ्रष्टाचार का पर्दाफाश हो जाएगा। 526 करोड़ रुपये का जहाज 1670 करोड़ रुपये में क्यों खरीदा गया। 30 हजार करोड़ रुपये का ठेका सरकारी कंपनी एचएएल से लेकर प्राइवेट कंपनी को क्यों दिया गया। कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी और डिफेंस एक्विजिशन काउंसिल उनके कानून को दरकिनार कर प्रधानमंत्री 62 हजार करोड़ के जहाज क्यों खरीद रहे थे। अगर राष्ट्रीय सुरक्षा जरुरी है तो 126 जहाज के सौदे को कैंसल कर 36 क्यों खरीदे गए। इन चारों सवालों का निर्णय केवल जेपीसी कर सकती है। युवा विरोधी है भाजपा

सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा युवा विरोधी सरकार है। रोजगार देने की बजाय युवाओं के रोजगार छीने जा रहे हैं। भाजपा ने हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। मनोहर सरकार ने दस हजार से भी कम नौकरियां दी है। अब युवा सरकार का युवा विरोधी चेहरा पहचान चुके हैं। किसानों को उनकी फसलों का समर्थन मूल्य तक नहीं दिया जा रहा है। अपना हक मांगने वाले किसानों पर लाठीचार्ज हो रहा है।

इस मौके पर सुदीप सुरजेवाला, सुल्तान जडौला, फूल¨सह खेड़ी, बॉबी मान, सज्जन ¨सह, सतबीर भाणा, राजेश जागलान, रामनिवास मित्तल, बहादुर सैनी, रणबीर सरपंच, मोहन शर्मा, रोशन पाडला, बिल्लू सैनी, संजय भौरिया, केसर दास राजेंद्र शर्मा मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस