जागरण संवाददाता, कैथल : सब इंस्पेक्टर रामचंद्र देशवाल पर एससी-एसटी मामले में समझौता करने के लिए 10 से 15 लाख रुपये मांगने के दर्ज हुए मामले में सिटी थाना पुलिस ने वीडियो रिकार्डिंग सहित अन्य दस्तावेज को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। सब इंस्पेक्टर ने इस मामले में पट्टी अफगान निवासी महावीर सिंह व उसके बेटे दीपक पर समझौता के लिए पैसे की मांग करने का आरोप लगाया था। वहीं दूसरी तरफ इस मामले में आरोपित महावीर के छोटे भाई वेदपाल व भतीजे विक्रम ने कहा कि यह मामला पूरी तरह से झूठा है, समझौता करने के लिए किसी भी प्रकार की कोई पैसा नहीं मांगा। सब इंस्पेक्टर ही एक साल से उनके परिवार पर समझौता का दबाव बना रहा है, यहां तक की ग्रामीण, रिश्तेदार व अन्य जगहों से दबाव डलवाया, जब उन्होंने समझौता नहीं किया तो वीडियो बनाकर झूठा केस दर्ज करवा दिया, क्योंकि ये पुलिस विभाग में कार्यरत हैं, इस कारण ऐसा हो रहा है। पूरा परिवार परेशान हैं, यहां तक की गांव के लोगों को भी उनके खिलाफ भड़काया जा रहा है। मारपीट व एससी-एसटी मामले में सब इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया जाए, जो रिश्वत मांगने का झूठा केस दर्ज किया है, उसे वापस लिया जाए, यदि ऐसा नहीं हुआ तो वे समाज के लोगों को एकत्रित कर सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे। ये दर्ज हुआ था एक साल पहले मामला

पट्टी अफगान निवासी महावीर सिंह ड्रेन के नजदीक स्थित बाग में चौकीदार का काम करता था। दोपहर बाद खाना-खाने के बाद वे ड्यूटी पर जा रहा था तो चीका की तरफ से कार में सवार होकर आ रहे सब इंस्पेक्टर रामचंद्र देशवाल ने साइकिल को टक्कर मार दी थी। घटना 26 जून 2018 की है। इस घटना में साइकिल सवार महावीर को काफी चोट लगी थी। इस दौरान काफी लोग वहां एकत्रित हो गए थे। लोगों ने इस हादसे की वीडियो बना ली थी। इस वीडियो में सब इंस्पेक्टर लोगों को धमकाते हुए भी नजर आया था। लोगों ने सब इंस्पेक्टर पर शराब के नशे में होने का आरोप लगाया था। इस मामले में महावीर की शिकायत पर सब इंस्पेक्टर के खिलाफ पुलिस ने टक्कर मारने व जातिसूचक शब्द कहने के आरोप में केस दर्ज कर लिया था। एससी-एसटी की धारा बाद में जोड़ी गई थी। अब ये आया नया मोड़

दो दिन पहले इस मामले में नया मोड़ आया है, इस मामले में सिटी थाना पुलिस को शिकायत देते हुए इन दिनों कैथल में इकाोनॉमिक सेल के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर रामचंद्र ने महावीर व उसके बेटे पर एससी-एसटी मामले में समझौता करने का दबाव बनाते हुए 10 से 15 लाख रुपये मांगने का अरोप लगाया है। इस मामले की शिकायत पहले एसपी को दी गई, इसके बाद डीएसपी ने जांच करते हुए अपनी रिपोर्ट सौंपी। फिर सिटी थाना पुलिस को इस मामले में केस दर्ज करने के निर्देश दिए गए। आरोप लगाया कि वीडियो में पिता-पुत्र समझौता करने की बात कहते हुए पैसे की डिमांड कर रहे हैं। चंडीगढ़ वाले एक व्यक्ति को भी पैसे देने की बात वीडियो में कह रहे हैं।

पुलिस ने दर्ज मामले में वीडियो रिर्काडिग व अन्य दस्तावेजों को कब्जे में ले लिया है। मामले में जांच की जा रही है। इसके बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।

सिटी थाना प्रभारी प्रदीप कुमार

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस