मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, ढांड : पैक्स कर्मचारियों की ओर से रोष सभा का आयोजन कर सरकार की नीतियों के खिलाफ रोष व्यक्त किया गया। पैक्स कर्मचारी महासंघ हरियाणा के महासचिव कृष्ण कौल ने सभा की अध्यक्षता की। कृष्ण कौल ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा 11 सितंबर को पैक्स कर्मचारियों की पदोन्नति 50 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत करके कर्मचारियों के साथ अन्याय किया गया है। पदोन्नति टेस्ट लेकर करना व 7वें वेतनमान के लिए सरकार की ओर से ब्याज माफी में 70 प्रतिशत रिकवरी होने के बाद पे-स्केल लागू करना के फैसले का कर्मचारी विरोध करते हैं। सहकारी बैंक व हरको बैंक की ओर से नियमों से चार प्रतिशत ब्याज अधिक लगाया जा रहा है। पैक्स किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर लोन दे रहा है। यह पैसा दो से तीन वर्ष बाद पैक्स को सरकार से मिलता है। पैक्स के घाटे को लेकर तथ्यों सहित सरकार व विभाग को कई बार अवगत करवाया जा चुका है। सभी सहकारी बैंक घाटे में चल रही है। हरको बैंक व हरियाणा सरकार का बजट भी घाटे में है। सरकार कर्मचारियों पर शर्तों को थोप रही है। पैक्स के कर्मचारियों पर जो पदोन्नति में शर्त लागू की गई है इसका परिणाम आने वाले चुनाव में पैक्स कर्मचारी भी शर्तों के आधार पर ही देंगे। सरकार को इसका खामियाजा विधानसभा चुनावों में भुगतना पड़ सकता है। ----------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप