जागरण संवाददाता, कैथल : कोरोना महामारी को लेकर प्रदेश सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन में अब बिजली निगम में ऑनलाइन बिलिग बढ़ गई है। बता दें कि प्रदेश सरकार की पाबंदियों के बीच अब लोग सरकारी कार्यालयों में जाने से भी परहेज कर रहे हैं। ऐसे में बिजली निगम में जहां पहले केवल 65 से 70 फीसद तक ऑनलाइन पेमेंट होती थी। अब वह 90 फीसद पर पहुंच गई है। लॉकडाउन में उपभोक्ता ऑफलाइन बिल भरने की बजाय ऑनलाइन बिलिग करना पसंद कर रहे हैं।

लॉकडाउन में घरों से बाहर न निकलने की पाबंदी कहें या कोरोना का भय होना। हालांकि निगम ने पहले से ही पेमेंट का ऑनलाइन भुगतान करने की अपील की थी। इसके साथ ही कैश काउंटरों पर भी कर्मचारियों की संख्या को घटाकर 50 फीसद तक कर दिया गया है।

पिछले वर्ष कोरोना से पहले होती थी 40 फीसद ऑनलाइन पेमेंट :

बिजली निगम से मिली जानकारी के अनुसार पिछले वर्ष कोरोना महामारी की शुरूआत से पहले केवल 40 फीसद ऑनलाइन पेमेंट ही उपभोक्ताओं द्वारा की जाती थी। इसके बाद जब पिछले वर्ष कोरोना महामारी के प्रकोप के बाद यह फीसद 40 से बढ़कर 60 प्रतिशत तक हुआ था। तो इस वर्ष बढ़कर 90 फीसद हो गया है।

जिले में घरेलू डेढ़ लाख तो शहर में हैं 40 हजार कनेक्शन :

बता दें कि कैथल जिले में आने वाले सर्कल में कुल घरेलू डेढ़ लाख के करीब बिजली के कनेक्शन हैं। जबकि अकेले कैथल शहर में करीब 40 हजार कनेक्शन हैं। जिनका डिविजन स्तर पर पेमेंट ली जाती है।

लॉकडाउन लगने के बाद से ही बिजली निगम के सभी उपभोक्ताओं को अपील की गई थी कि वह ऑनलाइन पेमेंट करके बिल भरें। इस दौरान अधिकतर उपभोक्ताओं ने निगम की अपील को माना है। इसका नतीजा यह है कि वर्तमान में 85 से 90 फीसद तक ऑनलाइन माध्यम से बिल की अदायगी की हो रही है।

- भूपेंद्र सिंह वधावन, एक्सईएन, उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम, कैथल। ----------