Move to Jagran APP

Haryana News: गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग का भाई जोगिंद्र फिलीपींस में गिरफ्तार, नेपाली पासपोर्ट बनवा कर रहा था बिजनेस

Haryana News कुख्‍यात सुरेंद्र ग्‍योंग (Surendra Gyong) का भाई जोगिंद्र ग्‍योंग (Joginder Gyong) फिली‍पींस से गिरफ्तार हो गया है। जोगिंद्र ग्‍योंग नेपाली पासपोर्ट बनवाकर बिजनेस कर रहा था। जोगिंद्र पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग को साल 2018 को करनाल और कैथल पुलिस के संयुक्‍त ऑपरेशन के तहत करनाल के गांव राहड़ा में उस वक्त एनकाउंटर में मार गिराया गया था

By Jagran News Edited By: Himani Sharma Wed, 10 Jul 2024 07:28 AM (IST)
पुलिस ने 2018 में मार गिराया था सुरेंद्र ग्‍योंग (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, कैथल। कुख्यात गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग के भाई जोगिंद्र ग्योंग को फिलीपींस में गिरफ्तार कर लिया गया है। वह वर्ष 2022 से वहां नेपाली पासपोर्ट पर कांत गुप्ता बन कर रह रहा था और बिजनेस कर रहा था।

जोगिंद्र ग्योंग पर हत्या, फिरौती सहित कई जघन्य अपराधों में मुकदमे दर्ज हैं। अपने भाई सुरेंद्र ग्योंग के एनकाउंटर के बाद जोगिंद्र ने करनाल के एक युवक जयदेव शर्मा की हत्या की थी।

मुखबिरी के चलते किया था एनकाउंटर

जोगेंद्र को शक था कि सुरेंद्र ग्योंग का एनकाउंटर जयदेव की मुखबिरी के चलते पुलिस ने किया था। इसी तरह से पानीपत में उसने एक व्यक्ति की हत्या को अंजाम दिया। उस पर पुलिस ने एक मामले में एक लाख रुपये का इनाम रखा था। उसने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला को भी जान से मारने की धमकी दी थी। कैथल सीआइए पुलिस के मुताबिक उन्हें इंटरनेट से ही जोगिंद्र ग्योंग के पकड़े जाने की जानकारी मिली है।

जोगिंद्र ग्‍योंग पर थे कई मामले दर्ज

जोगिंद्र ग्योंग पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। वर्ष 2006 में हुए कैथल के प्लाईवुड व्यापारी नरेंद्र अरोड़ा हत्याकांड के बाद दक्षिण अफ्रीका फरार हुए जोगिंद्र ग्योंग को उसके दो अन्य साथियों के साथ पुलिस ने वहां से गिरफ्तार किया था। प्रत्यर्पण संधि के अंतर्गत वर्ष 2007 में दक्षिण अफ्रीका पुलिस उसे कैथल लेकर आई थी। वह अपने बड़े भाई सुरेंद्र ग्योंग को देख कर ही अपराध जगत में उतरा था।

यह भी पढ़ें: Kaithal News: खालिस्तानी बताकर सिख युवक पर जानलेवा हमले में पुलिस ने लिया एक्शन, दो आरोपियों पर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित

कार में असंध की ओर जा रहा था आरोपी

गैंगस्टर सुरेंद्र ग्योंग को वर्ष 27 जनवरी 2018 को करनाल और कैथल पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन के तहत करनाल के गांव राहड़ा में उस वक्त एनकाउंटर में मार गिराया गया था, जब वह अपनी होंडा सिटी कार में असंध की ओर जा रहा था। जोगिंद्र ग्योंग ने इसके पीछे सुरेंद्र ग्योंग के साथी रहे जयदेव पर मुखबिरी का शक जताया था, जिसके चलते करनाल में उसकी हत्या कर दी थी।

यह भी पढ़ें: Panipat News: ट्रक मालिक से अवैध संबंध के चलते पत्नी ने की पति की हत्या, बेटे के सामने कबूला अपराध

जोगिंद्र ग्योंग की पुलिस लंबे समय से तलाश कर रही थी। अदालत ने उसे उम्र कैद की सजा दी थी, लेकिन न्यायालय से मिली पैरोल के बाद से वह फरार हो गया था। फरार होने के बाद उस पर पानीपत में एक व्यक्ति की हत्या किए जाने का मामला भी दर्ज है।