जागरण संवाददाता, कैथल:

कोरोना व गर्मी से बचने के लिए चिकित्सक लोगों को मौसमी फल का सेवन करने को जागरूक कर रहे हैं। डाक्टरों का कहना है कि मौसमी फल शरीर को स्वस्थ रखने में अहम योगदान देता है। गर्मी संबंधित बीमारी से हम मौसमी फल का सेवन कर बच सकते हैं। मनुष्य का इम्यून सिस्टम बढ़ाने में भी इसका अहम रोल है। इस फल का सेवन करने से अपेक्षाकृत शुगर कम होती है और विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में मिलती है। विटामिन सी हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सक्रिय योगदान रखती है।

बाक्स-

चिकित्सक डा.आरपी मान ने बताया कि मौसमी फल खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है। इसमें फाइबर होता है, जिससे पाचन दुरुस्त होता है। ये इम्युनिटी को बढ़ाता है, इसमें काफी सारे एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं। गर्मी के सीजन में मौसमी का सेवन करने से शरीर कठोर होता है। मौसमी में उपलब्ध विटामिन सी की खासियत यह है कि वह शरीर में पर्याप्त समय तक उपस्थित रहता है। और शरीर उसे ठीक सेवन करता है। इस फल में जो फाइबर होता है, वह शरीर के लिए सोने में सुहागा का काम करता हैं

बाक्स-

डाक्टर जसजीत ने बताया कि मौसमी का जूस पीने से जोड़ों में कम दर्द होता है। आंखों के लिए काफी अच्छा उपयोगी होता है। आंखों को इन्फेक्शन से बचाता है ,खांसी से बचाता है। जूस पीने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। कमजोरी दूर होती है। मौसमी के खाने के बाद शरीर स्वस्थ रहता है। बीमारियों से छुटकारा मिलता है। बुखार वाले व्यक्ति को सबसे ज्यादा मौसमी का सेवन करने की आवश्यकता हैं। मौसमी तरल पदार्थ में सबसे उपयोगी माना जा रहा है।

बाक्स-

डाक्टर प्रदीप नागर ने बताया कि मौसमी फल शरीर को स्वस्थ रखने में अति उपयोगी है। इसमे विटामिन सी होती है। मौसमी फल डेंगू, मलेरिया बुखार में शरीर के लिए अति जरूरी है। गर्मी के सीजन में मौसमी के जूस को सेवन करना चाहिए। निबू व मौसमी शरीर की रक्त क्रिया का संचालन करता है।

बाक्स- मंडियों में 20 रुपये किलो बिक रहा

मौसमी फल इन दिनों मंडियों में 20 रुपये किलो बिक रहा है। दस किलो के कट्टे का भाव 200 रुपये है। व्यापारी लक्की कुमार कंपनी ने बताया कि लॉकडाउन के कारण मौसमी के रेट 20 रुपये प्रति किलो के हिसाब से है। पिछले सीजन में 40 रुपये किलो के दाम पर मौसमी बिक रही थी। लेकिन इस बार मंदा कारोबार चल रहा है। निबू थोक का रेट 25 रुपये किलो मंडी में मिल रहा है। गर्मी से बचने के लिए हर बार मौसमी व निबू का सेवन किया जाता था। लेकिन इस बार कम ग्राहक ही मंडियों तक पहुंच पा रहे हैं।

----------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस