संवाद सहयोगी, राजौंद : हरियाणा की महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि गुरूओं को मान-सम्मान करना हम सभी का फर्ज है, क्योंकि गुरू समाज को एक नई दिशा देने का कार्य करते हैं। गुरु किसी एक वर्ग विशेष के नही होते, बल्कि सभी के सांझे होते हैं। भारतीय संस्कृति में गुरूओं द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलने से सद्मार्ग मिलता है और उनके आशीर्वाद से जीवन के हर लक्ष्य को पाया जा सकता है। राज्यमंत्री कमलेश ढांडा बाक्सर मनोज कुमार व उनके कोच भाई राजेश कुमार के निवास स्थान पर उन्हें सम्मानित करने के दौरान बोल रहीं थी। राज्यमंत्री ने इस मौके पर प्रजापति चौपाल निर्माण के लिए पांच लाख रुपये देने की घोषणा भी की।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों ने विभिन्न प्रतिस्पर्धाओं में राज्य के साथ-साथ देश का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमकाया है। हरियाणा के खिलाडिय़ों ने अपनी प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया में मनवाया है, जिससे खेल के क्षेत्र में प्रदेश की अलग ही पहचान बनी है। सरकार की नई खेल नीति से खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के अवसर मिल रहे हैं। ओलिपिक में जो खिलाड़ी स्वर्ण पदक हासिल करेंगे उन्हें छह करोड़ रुपये, रजत विजेता को चार करोड़ रुपये तथा कांस्य विजेता को दो करोड़ 50 लाख रुपये की राशि सरकार द्वारा दी जाएगी।

इसके साथ-साथ जो खिलाड़ी इस प्रतिस्पर्धा में भाग ले रहे हैं, उन सभी को 15 लाख रुपये की राशि भी दी जाएगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर, तुषार ढांडा, महेंद्र शर्मा, सुरेश संधु, बलविद्र जांगड़ा, कमल राणा, बिट्ठू, संदीप, सुरेंद्र कसान, वजीर खेड़ी, राममेहर कुंडू, जोगिद्र, बाबू राम, पवन पटवारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran