संवाद सहयोगी, गुहला-चीका : चीका में 100 बेड के अस्पताल के लिए प्रपोजल भेजा गया था, लेकिन 50 बेड के अस्पताल की मंजूरी आ चुकी है। उक्त घोषणा आज यहां अपने निवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक ईश्वर सिंह ने की। इस उपलक्ष्य में रविवार को विधायक निवास पर लड्डू बांटकर खुशी जाहिर की। सिंह का कहना था कि आज से डेढ़ महीने पहले उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर यहां 100 बेड के अस्पताल की मंजूरी की दरखास्त दी थी जिसे मुख्यमंत्री ने मंजूर करते हुए फिलहाल 50 बेड के अस्पताल की मंजूरी दे दी है, बाकि कार्रवाई आने वाले समय में कर दी जाएगी विधायक ने कहा कि हलके के विकास के लिए हर समय तैयार हैं और जैसे पीडल से टटियाना होते हुए बाइपास का कार्य शुरू होने वाला है। इसी प्रकार से अन्य सारी परियोजनाएं भी शीघ्र शुरू कर दी जाएंगी।

बाक्स-वाहवाही लेने के लिए की गई है घोषणा

दूसरी तरफ भाजपा नेता पूर्व विधायक कुलवंत बाजीगर ने आज की ईश्वर सिंह की घोषणाओं को उंगली काट कर शहीद होने वाला बताया। उन्होंने कहा कि बाइपास की मंजूरी तो उन्होंने सीएम अनाउंसमेंट नंबर 20158 के तहत 10 अक्टूबर 2017 में ही करवा दी थी। इसकी डीएनआइटी जारी हो चुका है। मतलब के नक्शा पास हो चुका है और जमीदारों की जमीन इस बाइपास के अंदर आएगी उनको भी समन जारी हो चुके हैं।

ईश्वर सिंह इन बातों को भुनाने के लिए रोज किसी न किसी अधिकारी को बुलाकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बयान जारी कर रहे है। उन्होंने वाहवाही लूटने के लिए है अस्पताल के लिए मंजूरी देने के बारे में कही है।

उन्होंने कहा कि अपने कार्यकाल में मई 2018 में सीएम अनाउंसमेंट 20158 के तहत उन्होंने अस्पताल की मंजूरी के लिए मुख्यमंत्री को कहा था जिसे उन्होंने मंजूर कर लिया था। इसी दौरान डॉक्टर निवास के लिए बिल्डिग बनाने का पैसा भी आ चुका था। इसी प्रकार से हरनौली में और अगोंद में भी 2-2 करोड़ की लागत से अस्पताल बनाने की मंजूरी उन्होंने करवा रखी है। बाजीगर ने कहा कि वास्तव में विधायक ईश्वर सिंह यदि कोई नई विकास की योजना लेकर आते हैं तो वह हलके के लिए खुशखबरी होगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस