संस, राजौंद : खेतों में भरे बरसात के पानी की निकासी न होने से खफा किसानों ने प्रदर्शन किया। बरसात का पानी भरने की किसानों की हजारों एकड़ धान की फसल खराब हुई। पूर्व सरपंच पवन राणा, मोहन राणा, काका राणा, संजू, तरसेम, सुरेंद्र, कृष्ण, चिटू, सुरेंद्र, वकील, बिजेंद्र सिंह ने बताया कि पिछले दिनों आई बरसात के बाद उनके खेतों में तीन-तीन फीट तक पानी भरा हुआ है। खेतों में बरसात के पानी हजारों एकड़ धान, ज्वार, बाजरा की फसलें खराब हो गई। जबकि इस बारे में वह प्रशासन व अन्य अधिकारियों को बार बार अवगत करवा चुके है। परंतु पानी निकासी की कोई व्यवस्था नही की गई। किसानों ने बताया कि जब से राजौंद के साथ साथ माइनर निकला है, तभी से पानी निकासी की व्यवस्था ठप हो गई है। किसानों ने बताया कि पूंडरी मार्ग से लेकर कैथल मार्ग के साथ-साथ हजारों एकड़ धान की फसल जलमग्न हो गई। इसमें पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। इन किसानों ने मांग की है कि उनकी फसलों की गिरद्वारी करवा उन्हें मुआवजा दिया जाए ताकि उनकी मदद हो सके।

वार्ड नंबर 10 में जलभराव की समस्या से वार्डवासी परेशान

संस, राजौंद : वार्ड नंबर 10 में जलभराव की समस्या से लोगों का जीना दुर्भर हो गया है। आलम यह बना है कि गली में भरे पानी से रात के समय कोई व्यक्ति गुजर नहीं सकता। इस गली में पानी निकासी की कोई व्यवस्था नही है। जिससे नालियों का सारा पानी गली में भरा रहता है। जिस पर जहरीले मच्छर मंडराकर जहां बीमारियों को निमंत्रण दे रहे है। वहीं, लोगों के लिए पानी मुसीबत बना है। वार्डवासी शमशेर, ज्ञानचंद, फूल सिंह, रामकला, आशा, नरेश, कपिल शर्मा ने बताया कि वह इस समस्या को लेकर कई बार शासन व प्रशासन के दरवाजा खटखटा चुके है, लेकिन उनकी समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ। इन लोगों ने मांग करते हुए कहा कि उनके वार्ड में पानी निकासी की उचित व्यवस्था करवाई जाए।

Edited By: Jagran