संवाद सहयोगी, राजौद : किसानों ने धान के दाम में 55 रुपये की कटौती को लेकर अनाज मंडी के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। किसानों ने एक घंटे तक मंडी का गेट बंद रखा। सूचना पाकर राजौंद थाना प्रभारी रामलाल अपनी टीम के साथ पहुंचे।

मार्केट कमेटी के सचिव कृष्ण धनखड़ ने आढ़तियों को भी मौके पर बुला कर किसानों को समझाकर गेट को खुलवाया। किसानों ने धान की खरीद को लेकर व 55 रुपये की कटौती को लेकर प्रदर्शन किया। किसानों ने कहा कि धान की खरीद में नमी बताकर उसे खरीदा नहीं जा रहा। जो धान खरीदी जा रही है उसमें आढ़तियों द्वारा कच्ची पर्ची बनाकर 55 रुपये प्रति क्विंटल की कटौती बताई जा रही है। उन्होंने कहा कि धान का रेट 1960 रुपये है, लेकिन उन्हें आढ़तियों द्वारा 1905 रुपये की बात कह कर धान की फसल खरीदी जा रही है। इससे किसानों को सड़कों पर उतरने को विवश होना पड़ रहा है। थाना प्रभारी रामलाल व मार्केट कमेटी के सचिव कृष्ण धनखड़ व आढ़तियों को मौके पर बुलाकर किसानों को धान की फसल में झरना लगाने पर कटौती न करने का आश्वासन दिया।

----

झरना लगाने की बात को लेकर अनाज मंडी में 14 फर्म मंडी में धान खरीद के लिए आई हैं। सभी को वह झरने लगाने के लिए नोटिस दे चुके हैं, लेकिन दो दुकानों पर न तो झरने मिले और न ही उन दुकानों से उन्हें कोई जवाब दिया है। इससे उन दोनों फर्मों के लाइसेंस रद किए जा चुके हैं। कृष्ण धनखड़, सचिव, मार्केट कमेटी

Edited By: Jagran