संवाद सहयोगी, ढांड: स्वच्छता ही जीवन है, स्वच्छता से ही पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाया जा सकता है। वर्तमान समय में पोलिथिन पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा है जो लगातार स्वर्ग से भी सुंदर धरती को नरक बना रहा है। पोलिथिन सुंदर पहाड़ों की सुंदरता को ग्रहण लगा ही है जिससे पेड़ पौधौं का जीवन लगातार समाप्त हो रहा है। यह बातें अध्यापिका शिक्षा शर्मा ने राजकीय प्राथमिक पाठशाला ढांड में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने पोलिथिन मुक्त भारत बनाने के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए स्वच्छता पर कविताएं सुनाई। अध्यापक रोशन लाल पंवार ने कहा कि महात्मा गांधी स्वच्छता के पक्षधर थे। उन्होंने भारत को स्वच्छ बनाने के लिए भारतीयों को हमेशा जागृत किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी पिछले पांच सालों से भारत में स्वच्छता के लिए अभियान चलाया हुआ है। जिला प्रशासन भी हर वर्ष स्वच्छता के लिए कार्य करने वाले विद्यार्थियों व स्कूलों को सम्मानित कर रहा है। विद्यार्थियों को स्वच्छता के लिए शपथ दिलाई गई तथा घर में पोलिथीन प्रयोग न करने के लिए प्रेरित किया गया। विद्यार्थियों ने पिछले एक सप्ताह में घर में प्रयोग किए पालिथीन थैलियों को इकट्ठा किया ताकि उसे खंड विकास कार्यालय में जमा करवाया जा सके। विद्यार्थियों को सिगल यूज पालिथीन प्रयोग न करने व उसे दुष्प्रभावों की जानकारी दी गई। इस अवसर पर हेमलता, जीतसिंह, बलविद्र सिंह, राकेश मैहला, राममेहर, अनिल कुमार, मुल्तान सिंह, होशियार सिंह, शालू शमर, पूनम, अस्बीना, शिक्षा, सुरेखा, राजरानी, सीमा देवी, निधी तथा विजेता मौजूद थे।

-------------------

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस