जागरण संवाददाता, कैथल :

हरियाणा में फिल्म निर्माताओं को आकर्षित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से फिल्म पॉलिसी बनाई गई है। प्रदेश में फिल्म शूटिग की मंजूरी के लिए ऑनलाइन सेंट्रल पोर्टल तैयार किया गया है। इस पोर्टल पर आवेदन करने के बाद सात कार्य दिवसों के अंदर-अंदर इस आवेदन का निपटारा किया जाना अनिवार्य है।

सरकार द्वारा हरियाणा की पृष्ठभूमि पर आधारित अथवा हरियाणा के कलाकारों व तकनीशियनों को शामिल करने वाले निर्माता निर्देशकों को एक करोड़ रुपये से 3 करोड़ रुपये तक की आर्थिक सहायता भी उपलब्ध करवाई जाएगी।

सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीरपाल सरो ने वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से राज्य के सभी नगराधीश, डीआइपीआरओ व डीआइओ को इस संदर्भ में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में फिल्म शूटिग के लिए जिला स्तर पर मंजूरी के लिए नगराधीश को नोडल अधिकारी बनाया गया है तथा डीआईपीआरओ को सदस्य सचिव बनाया गया है।

मुख्यालय द्वारा शीघ्र ही इस पोर्टल की यूजर आईडी व पासवर्ड दिए जाएंगे। इसके माध्यम से फिल्म शूटिग के लिए किए गए आवेदन की प्रक्रिया को ऑनलाइन निर्धारित अवधि में पूरा करना है। आवेदन करने के सात कार्य दिवस के बाद आवेदनकर्ता को शूटिग की अनुमति भी ऑनलाइन ही उपलब्ध हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि आवेदन में संबंधित 18 विभागों को अपने-अपने स्तर पर ऑनलाइन ही सारी कार्यवाही करनी है। सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक समीरपाल सरो ने कहा कि यदि कोई फिल्म निर्माता हरियाणा की पृष्ठभूमि पर फिल्म बनाता है या हरियाणा के युवाओं को कलाकार के तौर पर रखता है अथवा अन्य तकनीकी स्टाफ के तौर पर उनसे काम लेता है तो उसे प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसके लिए भी इसी साइट पर आवेदन करना होगा। यह राशि एक करोड़ से लेकर तीन करोड़ तक हो सकती है। इस संबंध में विभाग की वेबसाइट पर फिल्म पॉलिसी दी गई है। राज्य में हरियाणा फिल्म प्रमोशन बोर्ड बनाया गया है तथा हरियाणा के निवासी मशहूर फिल्म निर्माता सतीश कौशिक को इस बोर्ड का चेयरमैन बनाया गया है।

इस मौके पर सीटीएम सुरेश राविश, डीआइओ दीपक खुराना, एडीआइओ राजीव शर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

---------------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप