जागरण संवाददाता, कैथल : जिले के गांव मूंदड़ी में बनने वाले प्रदेश के पहले महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर का निर्माण कार्य मई में शुरू हो जाएगा। इसकी टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसके तहत टेंडर के लिए आवेदन मांगे गए हैं। टेंडर लेने के लिए 15 अप्रैल तक की आवेदन तिथि है।

इसके बाद टेक्निकल बीड खुलने के बाद वित्त विभाग इस पर कार्य शुरू करवाएगा। सरकार ने इस वित्त वर्ष में भवन निर्माण के लिए 15 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की है। इसके तहत मूंदडी में अभी चहारदीवारी के लिए साढ़े तीन करोड़ रुपये की राशि दे दी है। इसके तहत ही पहले चहारदीवारी का कार्य शुरू किया जाना है।

बता दें कि जिले के लोगों को पिछले करीब तीन वर्षाें से विवि के भवन निर्माण कार्य शुरू होने का इंतजार है। अभी यह डा.भीमराव आंबेडकर राजकीय कालेज में उधार के कमरों में चल रहा है। अब विवि प्रशासन की ओर से कागजी कार्रवाई पूरी कर ली गई है। जल्द की निर्माण कार्य शुरू होगा। इस समय कुलपति अवकाश पर चल रहे हैं, लेकिन 15 अप्रैल के बाद टेंडर के लिए आवेदन पूरे होने के बाद इसे खोलने का कार्य भी जल्द शुरू किया जाएगा।

विश्वविद्यालय में 15 कोर्सों में हैं 457 विद्यार्थी :

इस समय महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय में 15 कोर्साें में कुल 457 विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इस बार नए सत्र में विश्वविद्यालय का तीसरा सत्र होगा। यहां पर वेद, योग, ज्योतिषशास्त्र, संस्कृत पत्रकारिता, वेब डिजाइनिग सहित अन्य कोर्साें में आचार्य, शास्त्री और डिप्लोमा करवाए जा रहे हैं। वर्तमान में विवि की कक्षाएं गांव जगदीशपुरा स्थित राजकीय पीजी कालेज में लगाई जा रही हैं।

- टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है

: मूंदडी में विवि परिसर के निर्माण कार्य के तहत टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस प्रक्रिया के तहत 15 अप्रैल को टेंडर के लिए आवेदन देने की अंतिम तिथि है। इसके बाद टेंडर खुलने के बाद चारदीवारी का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। उम्मीद है कि मई में निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। - डा. यशवीर सिंह, कुलसचिव, महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय, मूंदडी, कैथल। --------------

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप