जागरण संवाददाता, कैथल : सरकार द्वारा लाकडाउन में दी गई छूट के बावजूद साढ़े छह के बाद रोडवेज व निजी बसें अभी तक सड़कों पर नहीं उतरी है। जिस कारण यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। बसों के नहीं मिलने से शाम को बस स्टैंड पर भारी संख्या में लोगों की भीड़ रहती हैं। यात्री पूछताछ केंद्र से अपने गंतव्य के लिए बस के बारे में पूछते हैं, उन्हें जवाब ना का मिलता है, जिससे लोग मायूस होकर इंतजार करते हैं। प्राइवेट साधनों द्वारा ज्यादा किराया वसूला जा रहा है। कई बार घर भी लोग नहीं पहुंच पा रहे हैं। अधिक किराया देकर तय करना पड़ता है सफर : मनीष

पूंडरी जाने वाले यात्री मनीष ने बताया कि रात के समय शहर से घर जाते समय बस न चलने की स्थिति में अधिक किराया देकर सफर तय करना पड़ता है। समय पर घर नहीं पहुंच पाते है। बसों का संचालन किया जाए, ताकि आने जाने में किसी तरह की दिक्कत न हो। बसों को सुचारू तरीके से चलाया जाए : विकास नागपाल

सीवन रूट पर डेली आने-जाने वाले कपड़ा दुकानदार विकास नागपाल ने बताया कि लाकडाउन से पहले देर रात की बसें आठ बजे तक जाती थी, लेकिन अब बस बंद है। छह बजकर 30 मिनट पर बस जाती है, इसके बाद कोई बस नहीं है। आठ बजे तक रूट पर बसों को चलाया जाए, ताकि लोगों को परेशानी न हो। इन रूटों पर नहीं है शाम को बस सेवा

कैथल से पूंडरी, करनाल, कुरुक्षेत्र, गुहला, सीवन, राजौंद, असंध, दिल्ली व पानीपत के लिए शाम के समय बस सेवा नहीं है। यात्री बस न होने के कारण इधर- उधर भटकते रहते हैं। यात्रियों ने बस चलाने की मांग की है। यात्रियों के अनुसार बसों को भेजा जा रहा : जीएम

यात्रियों के हिसाब से बसों को भेजा जा रहा है। अगर इन रूटों पर यात्रियों की संख्या अधिक होती है, तो बसें चलाई जाएगी। यात्रियों को किसी तरफ परेशान नहीं होने दिया जाएगा। शाम का प्लान बनाया जा रहा है। जल्द चार पांच रूटों पर बस सेवा शुरू की जाएगी।

अजय गर्ग, जीएम कैथल

Edited By: Jagran