सुनील जांगड़ा, कैथल

कोरोना वायरस को हराने के लिए पूरा देश एकजुट हो चुका है। सरकार और स्थानीय प्रशासन इससे बचाव को लेकर हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और सफाई कर्मचारियों की टीमें जान की परवाह किए बिना लगातार काम कर रही हैं। इस संकट की घड़ी में एक महिला सफाई कर्मचारी ने रिक्शा का स्टेयरिग संभाल लिया है।

सफाई कर्मचारी सुनीता देवी वार्ड नौ से घर-घर जाकर रिक्शा में कचरा उठा रही हैं। इसे उठाने के बाद उसे पास में बने कचरा प्वाइंट पर डाल आती हैं। इससे पहले वह घरों से कचरा उठाने में पुरुष कर्मचारी का सहयोग करती थी, लेकिन रिक्शा नहीं चलाती थी। अब कुछ सफाई कर्मचारियों से अन्य प्रशासनिक कार्य भी लिए जा रहे हैं। ऐसे में घरों से कचरा उठान करने के लिए सुनीता ने रिक्शा चलाना शुरू कर दिया है। वह चार साल से डोर टू डोर कचरा उठाने वाली एजेंसी में कार्य कर रही है। दूसरों को कर रही जागरूक

सुनीता देवी ने बताया कि वह घरों से कचरा उठान के अलावा लोगों को अपने स्तर पर जागरूक भी कर रही हैं। सबको एक ही बात बोलती हैं कि बिना जरूरी कार्य के घर से बाहर न निकलें। मुंह पर मास्क लगाकर रखें और हाथ भी समय-समय पर अच्छे से साफ करते रहें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस