कमल बहल, कैथल

स्वामी विवेकानंद जिला पुस्तकालय के सुंदरीकरण का काम शुरू हो चुका है। इस पर करीबी 40 लाख रुपये की लागत आएग। इसके लिए पुस्तकालय की कमेटी ने पीडब्ल्यूडी को 30 लाख रुपये जारी कर दिए हैं। भवन की मरम्मत, फर्श पर टाइलें लगाने और पेंट करने का कार्य पूरा हो चुका है। अब एयरकंडीशनर लगाने का कार्य प्रगति पर है। पांच एसी लग चुके हैं, लेकिन अभी शुरू नहीं हुए हैं। भवन में पांच सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। 5500 नई किताबें मंगवाई

पुस्तकालय के लिए 5500 नई किताबे मंगवाई गई हैं। यहां इस समय करीब 17 हजार किताबें हैं। जिले के किसी भी पुस्तकालय में इतनी किताबें नहीं हैं। नए पुस्तकालय में हर वर्ग के लिए अलग पढ़ाई कक्ष बनाया जा रहा है। 1985 में बना था जिला पुस्तकालय

स्वामी विवेकानंद जिला पुस्तकालय वर्ष 1985 में बनाया गया था। इसे 2012 में यह नए भवन में शिफ्ट किया गया था। अब सात साल बाद अब इसको नया रूप दिया जा रहा है। पुरुष और महिला कक्ष में 60-60 के करीब सीटें हैं। इसके अलावा बुजुर्गो के लिए भी करीब 50 सीटें होंगी। बच्चों को लिए 20 सीटों के अलावा एक स्टडी रूम होगा, जहां सौ से ज्यादा व्यक्ति बैठकर पढ़ाई कर सकेंगे।

---------------

जल्द होगा कार्य पूरा

उच्चतर शिक्षा विभाग के जिला अधिकारी एवं राजकीय कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ऋषिपाल बेदी ने बताया कि पुस्तकालय की देखरेख की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी गई है। इसके लिए नौ सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। इसकी अध्यक्ष डीसी डॉ. प्रियंका सोनी हैं। सुंदरीकरण के तहत कार्य प्रगति पर है। जल्द ही अत्याधुनिक पुस्तकालय जिले को मिलेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप