जागरण संवाददाता, कैथल : दो दिन से लगातार वायु में प्रदूषण का स्तर घट रहा है। हवा चलने व धूप निकलने से प्रदूषण का स्तर कम हो गया। इससे लोगों को भी काफी हद तक राहत मिली है। एयर क्वालिटी इंडेक्स भी कम हो गया है।

अब लोगों को आंखों में जलन की समस्या नहीं हो रही है। । दो दिन पहले प्रदूषण का स्तर बहुत बढ़ गया था, जिस कारण जिला प्रशासन की ओर से सभी स्कूलों की दो दिन की छुट्टी कर दी गई थी। सोमवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 355 था जो मंगलवार को दोपहर तीन बजे तक 308 तक रह गया था। हालांकि यह स्तर भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। 100 से 150 एयर क्वालिटी इंडेक्स सही माना जाता है।

दो दिनों से जिला प्रशासन की ओर से भी अपने स्तर पर प्रयास किए गए हैं। पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। अधिकारियों को पराली नहीं जलाने को लेकर गांवों में ठीकरी पहला लगाने के आदेश दिए गए हैं। फायर विभाग की गाड़ियों से पेड़-पौधों पर पानी का छिड़काव किया गया है।

बॉक्स

यह रहा प्रदूषण का स्तर

पांच नवंबर को वायु में प्रदूषण का स्तर पहले से कम पाया गया। पीएम 2.5 न्यूनतम 90, एवरेज 298 व अधिकतम 444 तक रहा। पीएम 10 न्यूनतम 128, एवरेज 308 व अधिकतम 486 तक रहा। इसके अलावा कार्बन मोनोऑक्साइड, ओजोन, सल्फर डाईऑक्साइड, एल्युमिनियम का स्तर भी कम पाया गया।

बॉक्स : पराली न जलाने के दिए आदेश

डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने बताया कि वायु में प्रदूषण का स्तर कम करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से अपने स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। किसानों को खेतों में पराली न जलाने के सख्त आदेश दिए गए हैं। दो दिन से प्रदूषण का स्तर भी कम हो रहा है। -----------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस