संवाद सहयोगी, सीवन : कस्बा सीवन में आजकल बंदरों का आतंक है। बंदरों द्वारा काटे जाने या उनके डर से छत से छलांग लगा कर घायल होने के मामले कई सामने आ चुके हैं। श्री सनातन धर्म मोहल्ला में दर्शन रहेजा के साथ सोमवार शाम को भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। दर्शन रहेजा ने बताया कि वह अपनी छत पर पानी की टंकी साफ कर रहा था कि अचानक बंदरों ने उस पर हमला कर दिया। उसने डर के कारण छत से छलांग लगा दी, जिसके कारण उसके जबड़े व पैर की हड्डी टूट गई है। जबड़े का आपरेशन होना है जबकि पैर में प्लास्टर चढ़ चुका है। अधिकतर बंदर गांव की घनी आबादी वाले क्षेत्र में रहते हैं। छत पर कपड़े सुखाने गई महिला पर या आंगन में अनाज, फल व सब्जी हो तो बंदर हमला कर देते हैं। दुकानों व रेहड़ी वालों से फल छीन कर ले जाने की घटना आम देखने में आती हैं। गुलशन चुघ, नरेश मित्तल, विजय सरदाना, कपिल गंभीर, बाल कृष्ण मोरे, भीषू चौधरी, गोल्डी ने मांग की है कि बंदरों को पकड़कर दूर जंगल में छोड़ा जाए ताकि लोगों को उनके आतंक से निजात मिल सके।

Posted By: Jagran