जागरण संवाददाता, जींद। एचएसईबी वर्कर यूनियन की बैठक सोमवार को सर्कल कार्यालय में केंद्रीय कमेटी के वरिष्ठ उपप्रधान कृष्ण नैन की अध्यक्षता में हुई। इसमें पांच बिजली कर्मियों को सस्पेंड करने व पुलिस द्वारा मामला दर्ज करने पर विरोध जताया। राज्य वरिष्ठ उप-प्रधान कृष्ण नैन, जयसिंह बिटानी, वीरेंद्र गोयत ने कहा कि जींद का कर्मचारी बहुत ही मेहनती और ईमानदार है। कुछ महीने पहले आए तूफान में 1500 से अधिक पोल टूटने के बावजूद जिस सीमित समय में बिजली आपूर्ति वापिस बहाल की उसकी तारीफ मुख्यमंत्री तक कर चुके है। जिन अधिकारियों की वजह से विभाग की कंपनियां निरंतर घाटे में जा रही थी, लेकिन सीएमडी शत्रुजीत कपूर द्वारा जब से भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने की मुहिम चालू की गई तो पहली बार घाटे में चल रही बिजली की कंपनियां मुनाफे में लौट रही है। कुछ अधिकारी जो नाजायज तरीके से मोटी कमाई कर रहे थे। उनको भ्रष्टाचार पर अंकुश रास नहीं आ रहा। इसलिए वह शुरू से ही तरह तरह की लॉबिग करके सुधार की प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास कर रहे है। राज्य प्रधान विजेंद्र बैनीवाल ने कहा कि निगम मैनेजमेंट को चेताते हुए स्पष्ट शब्दों में कहा कि जींद सर्कल के कर्मचारियों को प्रताड़ित करना छोड़ दे वरना यूनियन जींद सर्कल के अधिकारियों की ईंट से ईंट बजाने से पीछे नहीं हटेगी। इस अवसर पर प्रधान राजा शामदो, सचिव धर्मबीर, सफीदों यूनिट प्रधान जितेंद्र, सचिव राकेश कुमार, राजेश आसन, रणधीर ग्रोवर रामबाग, नरवाना सब यूनिट प्रधान महाबीर, सब यूनिट प्रधान हरिओम, अमित संधू, वजीर लांबा, अनिल पूनिया, दरवेश, विजय लाठर, सूबे सिंह, गोपाल मौजूद थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस