संवाद सूत्र, जुलाना(जींद) : जमीन अधिग्रहण के उचित मुआवजे की मांग पर किलाजफरगढ़ में धरने पर बैठे किसानों अडिग हैं। रेल रोकने के अल्टीमेटम के आखिरी दिन भारी पुलिस बल जुलाना में पहुंच गया। दोपहर बाद डीसी ने किसानों के प्रतिनिधिमंडल को बातचीत के लिए जींद बुलाया। इस दौरान कोई बात नहीं बनी। प्रतिनिधिमंडल ने डीसी से मांग की कि लिखित में उन्हें दिया जाए कि कितना मुआवजा मिलेगा।

किसान एक तरफ उपायुक्त की ओर से नए मार्केट मूल्य की घोषणा का इंतजार करते रहे। साथ ही उन्होंने 27 जून से पंजाब जानी वाली ट्रेनों को रोकने लिए रणनीति बनाई। किसान नेता रमेश दलाल का कहना है कि किसान न्याय के इंतजार में पिछले 75 दिनों से जुलाना में आंदोलन कर रहे हैं। वहीं, बुधवार को धरनास्थल पर लगभग 3 बजे भारी संख्या में पुलिस बल पहुंच गया। दलाल ने बताया कि पूरे हरियाणा में ट्रेन रोकने के लिए 29 स्थान चिह्नित तय किए गए हैं। पुलिस ने जुलाना में किसी भी प्रकार की ज्यादती की तो हरियाणा में बाकी जगह ट्रेनों को रोका जाएगा। रविवार को यह पहले ही तय किया जा चुका है कि महिलाएं रेल रोकने की कमान को संभालेंगी। 27 जून से ट्रेन रोकने के बाद दिल्ली व गुरुग्राम जाने वाली नहर का पानी रोका जाएगा। किसानों ने 27 जून के बाद कभी भी संसद घेराव की चेतावनी भी दी हुई है। संसद घेराव की जिम्मेदारी 224 महिला संगठनों ने ली है। देश के विभिन्न राज्यों में 56 पॉइंट्स पर विभिन्न किसान संगठन रेलों को रोकेंगे।

----------

फोटो:

डीसी बोले: दस दिन निर्धारित कर देंगे जमीनों के रेट

फोटो 05

वहीं, डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने कहा कि किसानों ने जमीन के रेट बढ़ाने की जो मांग की थी, सरकार ने उसे स्वीकार कर लिया है। जमीन के रेट बढ़ाने को लेकर जिला प्रशासन ने कमेटी का गठन कर दिया है। दस दिनों में इस कमेटी द्वारा जमीन के रेट निर्धारित कर दिए जाएंगे। जब तक बढ़े हुए जमीन के रेट के हिसाब से मुआवजा राशि किसानों के खातों में नहीं पहुंच जाती, तब तक सरकार द्वारा जमीन पर कोई कब्जा नहीं लिया जाएगा। किसान रेल सेवाएं बाधित करने की चेतावनी दे रहे हैं, यह कानून के खिलाफ है। आम जन को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा तमाम प्रकार के पुख्ता प्रबंध पूर्ण कर दिए गए हैं। किसी भी सूरत में जिले में कानून व्यवस्था नहीं बिगड़ने दी जाएगी।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त, पुलिस बल तैनात

सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर दिया है। रेलवे पुलिस भी सभी रेलवे फाटकों की सुरक्षा को लेकर पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटियां निर्धारित कर दी गई है। किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न घटे, इसके लिए ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी नियुक्त कर दिए गए हैं। नियुक्त ड्यूटी मजिस्ट्रेटों के साथ एक-एक डीएसपी रैंक का अधिकारी तथा पर्याप्त पुलिस बल तैनात की गई है। इस मामले के लिए सफीदों के एसडीएम मंदीप कुमार को ओवरऑल इंचार्ज नियुक्त कर दिया है।

रात तक लेटर आता है तो खापों के साथ बैठक करेंगे

प्रशासन के साथ बैठक में साफ नहीं हो पाया कि किसानों को कितना मुआवजा दिया जाएगा। किसान मांगों को लेकर रेल रोकने पर अडिग हैं। डीआरओ ने अभी तक कोई लिखित में लैटर किसानों को नहीं दिया है। रात तक लेटर आता है तो किसान खाप नेताओं के साथ बात कर आगे के निर्णय पर फैसला करेंगे। किसान अभी तक रेल को रोकने के लिए तैयार हैं।

-रमेश दलाल, किसान नेता

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप