जागरण संवाददाता, जींद : जिले में तापमान 45 डिग्री पर पहुंच गया है। झुलसाने वाली तेज धूप के साथ दोपहर में लू चल रही है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार अगले चार-पांच दिन कोई राहत नहीं मिलने वाली है। रविवार को अधिकतम तापमान 45 व न्यूनतम 28 डिग्री रहा। सुबह नौ बजे ही गर्म हवाएं चलने लगी। दोपहर होते-होते लू बढ़ने लगी। जिससे लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया। दोपहर को शहर की सड़कें भी सुनसान नजर आई। लॉकडाउन के दौरान ढील के बावजूद सड़कों पर बहुत कम लोग दिखाई दिए। गर्मी से बचने को लोग घरों में ही दुबके रहे। पिछले महीने बाकी सालों की तुलना में तापमान कम रहा। लेकिन मई में तापमान में बढ़ोतरी हुई। आगामी दिनों में अधिकतम व न्यूनतम तापमान में और बढ़ोतरी हो सकती है। इसलिए चिकित्सक दोपहर के समय घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दे रहे हैं। वहीं किसानों को भी कृषि विशेषज्ञ जरूरी काम सुबह व शाम के समय ही करने के लिए कह रहे हैं। वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ. यशपाल मलिक ने कहा कि हरे चारे में नियमित अंतराल पर सिचाई करें। दिन में तेज धूप रहती है, इसलिए सिचाई सुबह व शाम के समय करें।

----------------

--तरबूज, नींबू पानी, दही, लस्सी लें: डॉ. मलिक

गर्मी से बचाव के लिए जब भी घर से निकलें, तो खाली पेट मत निकलें। सिर पर छाता, साफा या कपड़ा रख कर चलना चाहिए। ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लस्सी, दही, शर्बत, नीबू-पानी, फलों में रसदार व मीठे तरबूज, खरबूजा आदि खाएं। कोल्ड ड्रिक, फास्ट व जंक फूड भूल कर भी ना लें। जितना हो सके अन्न कम लें। खीरा, टमाटर, ककड़ी आदि सलाद का ज्यादा उपयोग करें। रोज सुबह प्राणायाम जरूर करें।

-योगाचार्य डॉ. धूप सिंह मलिक, नरवाना

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस