संवाद सहयोगी, अलेवा : आइटीबीपी (तमिलनाडु) में वायरलेस ऑपरेटर नगूरां निवासी सिपाही आजाद ¨सह (31) की हृदय गति रुकने से मंगलवार को मौत हो गई। आजाद ¨सह को आइटीबीपी 51 बटालियन पटियाला से पहुंचे एसआइ ओमबीर ¨सह ने टीम के साथ आजाद सिंह को सलामी तथा श्रद्धांजलि दी।

एसआइ ओमबीर ¨सह ने बताया कि नगूरां निवासी आजाद ¨सह आइटीबीपी मदुरई 45 बटालियन में 2007 में भर्ती हुआ था। उसकी 11 वर्ष की नौकरी में उसने 50 वर्ष गांठ तथा डीजी ¨सगानिया नामक दो मेडल प्राप्त किए। वह दो माह की छुट्टी पर आया हुआ था और साले की शादी के लिए उसने छुट्टी ली थी। आजाद ¨सह अपने पीछे दो लड़के अंकुश 10 वर्ष तथा खुशी और वर्ष छोड़ गया है। इस घटना के बाद पत्नी सुमन का रोरोकर बुरा हाल था।

जिला प्रशासन ने नहीं ली सुध

हालांकि दाह संस्कार के समय आइटीबीपी 51 बटालियन (पटियाला) से पहुंचे एसआइ आइटीबीपी एसआइ ओमबीर ¨सह ने टीम के साथ नगूरां गांव में पहुंचकर मृतक को सलामी दी, लेकिन जिला प्रशासन की तरफ से दाह संस्कार के समय केवल नगूरां पुलिस चौकी प्रभारी के अलावा किसी अधिकारी ने मौके पर पहुंचना मुनासिब नहीं समझा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप