संवाद सहयोगी, अलेवा: राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत डाहौला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीन बधाना उप स्वास्थ्य केंद्र पर किशोर-किशोरियों के लिए एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता एएनएम माया देवी तथा कमलेश देवी ने संयुक्त रूप से की तथा मुख्य रूप से स्वास्थ्य निरीक्षक कृष्ण सिंह ने भाग लिया। इस अवसर पर माया देवी ने बताया कि राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य जागरुकता मिशन के तहत पीयर एजुकेटर जो 11 वर्ष से 19 वर्ष बीच के बच्चे होते है। उनमें किशोर अवस्था होती है। बच्चों में इस दौरान शारीरिक व मानसिक बदलाव होते है। पीयर एजुकेटर ग्रुप किशोर अवस्था के दौरान लड़कों में विभिन्न शारीरिक बदलाव होते हैं। जैसे मूंछ-दाढ़ी के अलावा आवाज का भारीपन होना व प्रजनन अंगों में बदलाव होना होता है। इसी प्रकार से लड़कियों में बदलाव होना जैसे छाती में उभार होना, माहवारी शुरू होना व प्रजनन अंगों में बदलाव होना तथा उनको लेकर किशोर अवस्था के दौरान बच्चों के अन्दर जो अनेक भ्रांतियां पैदा होती हैं। उन्हीं को दूर करने के लिए पीयर एजुकेटर को समय-समय पर विभाग की तरफ से जागरुक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस अवसर पर स्वास्थ्य कर्मचारी रोशन लाल तथा आशा वर्कर सुमन, पूनम, रोशनी, अनीता, अंग्रेजों व नरेश मौजूद रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस