कर्मपाल गिल, जींद: उचाना विधानसभा सीट प्रदेश की सबसे हॉट सीटों में शामिल है। यहां चुनावी मुकाबला भाजपा उम्मीदवार प्रेमलता व जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दुष्यंत चौटाला के बीच है। प्रदेश भर के लोगों की नजरें इस सीट पर लगी हुई हैं। यहां से कौन जीतेगा, इसको जानने के लिए लोगों में जिज्ञासा है। भाजपा प्रत्याशी प्रेमलता अपने पांच साल के काम और उचाना के लोगों के विश्वास के बल पर चुनाव से पहले जीत के आश्वस्त दिख रही हैं। शुक्रवार को दैनिक जागरण ने प्रेमलता से विस्तार से बातचीत की। प्रेमलता कहती हैं कि मैं पांच साल के विकास कार्यों का रिपोर्ट कार्ड रख रही हूं, जबकि विरोधियों के पास गिनाने को कुछ नहीं है। सवाल: आप जीत के प्रति आश्वस्त कैसे हैं?

जवाब: उचाना हलके की जनता के पास उन्हें भरपूर समर्थन देने की कई वजह हैं। उचाना हलके में पिछले पांच सालों में अभूतपूर्व विकास हुआ है। पांच सालों में प्रेमलता के प्रयासों से उचाना में सड़क, भवन निर्माण, बिजली, सिचाई, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीकी शिक्षा आदि के क्षेत्रों में काफी काम हुए हैं। खास बात यह है कि ये सभी कार्य बिना भेदभाव हुए हैं। उचाना को उपमंडल का दर्जा और अलेवा को तहसील का दर्जा दिलवाया। इससे आम आदमी को राहत मिली है। सवाल: बिजली व सड़कों पर कितना काम हुआ है?

जवाब: देखिए, उचाना हलके के ग्रामीण विकास को गति देने के लिए रू-अर्बन मिशन के तहत उचाना ब्लॉक के 15 गांवों को शहरों जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए चयनित किया गया। पांच सालों में 192 करोड़ की लागत से बनी 436 किलोमीटर सड़कें उचाना के विकास की कहानी सुना रहीं हैं। 118 करोड़ से 244 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों की मरम्मत की गई। बिजली की स्थिति में सुधार के लिए 33 केवी का सब स्टेशन उचाना खुर्द, उचाना कलां, संदील, बिघाना, काब्रछा व खटकड़ गांव में मंजूरी दिलवाई और मंगलपुर बनकर तैयार हो चुका है। खरकभूरा 132 केवी बिजली घर की क्षमता बढ़ाई। सवाल: उचाना के गांवों में पेयजल की बड़ी समस्या रही है?

जवाब: सही बात कही आपने। डोहाना खेड़ा, तारखा, सुदकैन खुर्द, मखंड में जल घर बनवाए। पांच अन्य गांवों में एक करोड़ से बूस्टिग स्टेशन बनाए। अलेवा ब्लॉक के 6 गांवों को सीधे यमुना नहर से पानी दिलवाया और उचाना ब्लॉक के 16 गांवों को पेयजल की आपूर्ति सीधे सिरसा ब्रांच नहर से करवाई। सवाल: शिक्षा के क्षेत्र में आपकी क्या उपलब्धि हैं?

जवाब: अलेवा में सरकारी कॉलेज व बुडायन में केंद्रीय विद्यालय की स्थापना बड़ी उपलब्धि है। खेलों को बढ़ावा देने के लिए उचाना में जल्द ही राष्ट्रीय स्तर का खेल स्टेडियम बनेगा, जिसे मंजूरी मिल चुकी है। प्रेमलता कहती हैं कि उचाना में 50 बिस्तरों का हस्पताल शुरू हुआ है। बधाना गांव में बागवानी यूनिवर्सिटी के रीजनल सेंटर पर काम शुरू हो चुका है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस