संवाद सहयोगी, अलेवा : कुछ औपचारिकता के फेर में नगूरां पीएचसी स्वास्थ्य विभाग की गले की फांस बनता जा रहा है। पूरी तरह से बनकर तैयार भवन को आए दिन किसी न किसी अड़चन का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को जब हॉट लाइन से जुड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मीटर रूम में अचानक से आग लग गई। हालांकि बिजली निगम के अधिकारी आग लगने का मुख्य कारण मीटर रूम के लिए कम स्पेस को बता रहे हैं। करीब 2015 में सीएम की घोषणा के बाद करोड़ों की लागत से पीडब्ल्यूडी ने पीएचसी का निर्माण किया था। पीएचसी के निर्माण के बाद स्वास्थ्य विभाग ने बिजली निगम से पीएचसी को हॉट लाइन से जोड़ने के लिए एक प्रार्थना पत्र दिया था। निगम ने पीएचसी को हॉट लाइन से जोड़ने के लिए एक कमरा बनाने की शर्त रखी। पीडब्ल्यूडी ने निगम की शर्त के अनुसार मीटर के लिए एक बड़े कमरे का निर्माण न करवा, केवल एक छोटे से कमरे का निर्माण करवा दिया। निगम ने न चाहते हुए भी उक्त छोटे से कमरे को एक मीटर रूम के रूप में स्थापित कर दिया। पीडब्ल्यूडी ने मीटर रूम को निगम की शर्त के अनुसार न बनाकर केवल औपचारिकता बरतने का काम किया। जिसके चलते एक तरफ तो गर्मी, वहीं दूसरी तरफ कमरे का कम स्पेस होने के कारण बिजली निर्बाध रूप से चलने में दिक्कत आ रही थी। इस लापरवाही के कारण मीटर रूम में अचानक आग लग गई। आग इतनी भयंकर थी कि आसपास के लोगों को आग बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

----

कमरे का कम स्पेस के चलते हुआ हादसा

नगूरां निगम एसडीओ कुलदीप सिंह ने बताया कि मीटर रूम के लिए कमरे का स्पेस कम होने के कारण तथा छत फाइबर की होने के चलते गर्मी की अधिकता से मीटर रूम मे आग लगी है। आग से करीब एक लाख का नुकसान हुआ है। निगम की शर्त के मुताबिक एक अच्छे स्पेस वाले कमरे का निर्माण करवाया जाना चाहिए। ताकि भविष्य में किसी प्रकार की दिक्कत न आए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस