संवाद सूत्र, नरवाना : बदोवाल टोल प्लाजा पर चल रहे धरने पर रविवार को गांव ईस्माइलपुर, बदोवाल, खानपुर, डूमरखां कलां, डूमरखां खुर्द, झील, खरडवाल, ढाबी टेक सिंह, नारायणगढ़ तथा रेवर के किसानों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। धरने की अध्यक्षता विजय धर्मगढ़ ने की। क्रमिक अनशन पर गांव ईस्माइलपुर से शमशेर, रमेश, भूप सिंह, धर्मपाल व रामनिवास बैठे। धरने पर सबसे पहले किसानों ने पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। धरने की शुरुआत मंच संचालक होशियार सिंह ने की। वक्ताओं ने प्रदेश के कृषि मंत्री जेपी दलाल द्वारा किसानों की शहादत पर दिए गए विवादित बयान पर गुस्सा जाहिर किया। किसानों ने शपथ ली कि कोई भी भाजपा या जेजेपी नेता को गांव, मुहल्ले या शहर में आने पर पाबंदी लगाई जाएगी। कोई भी पार्टी वोट मांगने आएगी तो उसका विरोध किया जाएगा। कृषि मंत्री द्वारा किसान आंदोलन के समय शर्मनाक बयान दिया है, जिससे किसानों को भड़काने की कोशिश की है। कृषि मंत्री के विवादित बयान पर किसानों ने बद्दोवाल टोल प्लाजा पर उनका पुतला फूंका और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। अखिल भारतीय किसान सभा राज्य कार्यकारिणी सदस्य मास्टर बलबीर सिंह ने बताया कि रविवार को शाम 7 से 8 बजे तक घी या तेल के दीये हर गली, हर मोहल्ले के सार्वजनिक स्थान पर जलाएंगे तथा सरकार की गलत नीतियों के विरोध में महिलाएं गीत गाती जाएंगी। कोई एक महिला या पुरुष पुलवामा की घटना पर बातचीत करेगा। 16 फरवरी को दीनबंधु छोटूराम की जयंती बद्दोवाल टोल पर मनाई जाएगी। 18 फरवरी को रेल रोकने का कार्यक्रम 12 से 4 बजे तक किया जाएगा। अदाणी, अंबानी तथा रामदेव के उत्पादों का बहिष्कार जारी रहेगा। इस अवसर पर डा. रामचंद्र, चांद बहादुर, सुभाष लांबा, शीशपाल गुलाडी, मेवा सिंह नैन, सुनील बदोवाल, अमन मोर, गंगा सिंह दबलैन आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran