संवाद सूत्र, उचाना : उपमंडल कार्यालय में बिजली गुल होते ही ई-दिशा केंद्र में अंधेरा हो जाता है। सभी कंप्यूटर बंद हो जाने से कार्य प्रभावित होते हैं। यहां पर काम को लेकर आने वाले लोगों ने उपमंडल प्रशासन से मांग की है कि जब बिजली ना हो, जनरेटर चलाया जाए, ताकि काम प्रभावित ना हों। कई बार तो बिजली ज्यादा समय तक गुल रहने पर वो बिजली के आने का इंतजार करते रहते हैं। लोगों ने कहा कि आजकल अधिकांश कार्य ऑनलाइन से होते हैं। ई-दिशा केंद्र में ऑनलाइन से कार्य करवाने के लिए लोगों की भीड़ रहती है। सबसे अधिक परेशानी जब होती है, जब बिजली गुल होने पर ई-दिशा केंद्र का कार्य रुक जाता है। ई-दिशा केंद्र को उपमंडल प्रशासन सौर ऊर्जा से जोड़े, ताकि बिजली जाने के बाद यहां पर बिजली गुल न हो। जनरेटर की व्यवस्था भी होनी चाहिए ताकि बिजली गुल होने पर जनरेटर चलने से लोगों के रुके कार्य हो सकें।

--------------

बिजली गुल होने पर जनरेटर चलाया जाता है। किसी तरह की परेशानी ई-दिशा केंद्र में लोगों को कार्य के लिए नहीं होगी। एसडीओ बिजली निगम को भी कार्य समय में कम से कम बिजली के कट लगाने के लिए भी कहा गया है ताकि ई-दिशा केंद्र के कार्य प्रभावित न हो।

रामचरण, तहसीलदार, उचाना

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस