जागरण संवाददाता, जींद : भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता नए कृषि कानूनों के फायदे बताने समझाने के लिए गांव-गांव जाकर किसानों से बात करेंगे। 18 दिसंबर तक गांवों में गोष्ठियां की जाएंगी और पत्रक वितरित किए जाएंगे। बुधवार को बीजेपी जिला प्रधान राजू मोर ने पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा बताई।

राजू मोर ने बताया कि नए कृषि कानूनों में समर्थन मूल्य समेत जो मांगें किसानों की थी केंद्र सरकार उनको मान चुकी है। किसानों से संपर्क कर कृषि कानूनों के मुद्दे व समाधान, प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा किसानों के हित में उठाए गए कदमों तथा निर्णयों की जानकारी दी जाएगी। हरियाणा के पक्ष में एसवाइएल (सतलुज यमुना लिक) नहर के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा के हक में फैसला दिया हुआ है। उसके बारे में भी किसानों को जानकारी दी जाएगी।

हरियाणा के हक का पानी देने के लिए पंजाब के किसानों से मांग की जाएगी। 19 दिसंबर को जिला केंद्रों पर एसवाइएल के समर्थन में उपवास रखा जाएगा, जिसमें हर विधानसभा क्षेत्र से 1500 किसानों की सहभागिता होगी। पूरे प्रदेश में एक लाख लोग उपवास करेंगे। 20 दिसंबर को नारनौल में किसान रैली की जाएगी, जिसमें मुख्यमंत्री समेत सभी प्रमुख नेता शामिल होंगे। सभी जिलों में 20 से 30 दिसंबर तक सम्मेलन होंगे। पार्टी कार्यालय में पदाधिकारियों की मीटिग भी हुई। जिसमें तैयारियों को लेकर चर्चा हुई और पदाधिकारियों की ड्यूटियां लगाई गई।

इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष डा. राज सैनी, पूर्व जिलाध्यक्ष सोमदत्त शर्मा, बलकार डाहौला, जिला मीडिया प्रभारी वीरेंद्र खोखरी, संदीप गोस्वामी, सह मीडिया प्रभारी बबलू गोयल, कार्यालय सचिव नरेंद्र शर्मा, मंडल अध्यक्ष शहरी जसबीर सैनी, जयंती मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र धवन मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021