जागरण संवाददाता, जींद : नरवाना ब्लॉक के कान्हा खेड़ा गांव की पंचायत पर लाखों रुपये के घोटाले के आरोप ग्रामीणों ने लगाए हैं। ग्रामीणों द्वारा लगाई गई आरटीआइ में खुलासा हुआ कि सरपंच द्वारा उसी लड़के को काम पर दिखा मजदूरी दी दिखाई गई, जिस दिन वह स्कूल में मौजूद था। स्कूल के रजिस्टर में भी उसी दिन की हाजिरी है और काम पर भी पूरे दिन की हाजिरी भरी गई है। इसके अलावा गांव में पुराने नाले को रिपेयर कर दस्तावेजों में इसे नए सिरे से बना दिखाया गया है। हैंडपंप लगाने के नाम पर भी घोटाला किया गया है तो वहीं स्कूल में सीसीटीवी कैमरे लगा 37 हजार का बिल पास करवा लिया गया जबकि हकीकत में केवल डमी कैमरे लगे थे। इसकी डीवीआर, एलईडी, हार्ड डिस्क और दूसरे सिस्टम को लगाया ही नहीं गया था लेकिन बिल में शामिल किया गया था।

कान्हा खेड़ा गांव की वर्तमान में सरपंच मंजू देवी है। ढाई साल पहले गांव के वार्ड 2, 6 और 7 के पंचों ने शिकायत देते हुए कहा था कि विकास कार्यों में गड़बड़ हो रही है। ग्राम सभा की बैठक बुलाए बिना ही उनके हस्ताक्षर करवाकर काम किए जा रहे हैं, जिनका किसी को हिसाब नहीं है। इस पर कुछ ग्रामीण भी आगे आए और उन्होंने आरटीआइ के माध्यम से गांव के विकास कार्यों की जानकारी ली। इसमें कई तरह की गड़बड़ी के आरोप ग्रामीणों ने लगाए। -----------------

ग्राम पंचायत पर इन घोटालों के आरोप

पंचों और गांव के मौजिज लोगों ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत टेंट लगाने और कार्यक्रम करने पर दूसरा खर्च दिखाया गया है जबकि हकीकत में इस तरह का कोई कार्यक्रम हुआ ही नहीं। सीसीटीवी कैमरे के नाम पर डमी कैमरे लगा दिए, जांच की मांग की तो उन्हें चोरी दिखा दिया गया। बस अड्डे पर हैंडपंप लगा बिल पास करवाया गया है जबकि गांव में दो बस अड्डे हैं, जिनमें कहीं पर भी कोई हैंडपंप नहीं लगा है। झूठी एमबी सरपंच द्वारा भरी जा रही हैं। मई 2016 में गली निर्माण कार्य में उसी लड़के को लगा उसे मजदूरी के पैसे दिए दिखाए गए हैं जबकि उसी दिन लड़का स्कूल में भी हाजिर था, जो स्कूल का हाजिरी रजिस्टर बयां कर रहा है। गांव के दो-तिहाई पंच सरपंच के खिलाफ अविश्वास जता कर बीडीपीओ को शपथ पत्र दे चुके हैं लेकिन उस पर भी किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं हुई। पंचायत डायरेक्टर से भी डीसी के पास जांच के लिए लैटर आया था, जिसके बाद डीसी ने बीडीपीओ नरवाना को 9 बार जांच के लिए आदेश दिए जा चुके हैं लेकिन एक बार भी जांच पूरी नहीं की गई।

-------------

सरपंच ने कहा आरोप निराधार

कान्हा खेड़ा की सरंपच मंजू ने बताया कि उन पर लगाए गए आरोप निराधार हैं। जो भी कार्य ग्राम पंचायत द्वारा किए गए है, उन सभी के पक्के बिल उसके पास हैं। एमबी भी ठीक भरी जा रही हैं।

----------

मामले की चल रही जांच : बीडीपीओ

बीडीपीओ सोमबीर कादियान ने कहा कि मामले की जांच चल रही है। जल्द ही जांच पूरी कर डीडीपीओ और डीसी को सौंप दी जाएगी। पंचों के अविश्वास प्रस्ताव को लेकर अगले सप्ताह बैठक बुलाई जाएगी। वहीं डीडीपीओ राजकुमार चांदना ने कहा कि उन्होंने हाल ही में ज्वाइन किया है। सोमवार को मामले का पता करेंगे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021