जागरण संवाददाता,झज्जर : स्नातकोत्तर संकायों में दाखिले के लिए पिछले करीब दो माह से चल रही प्रक्रिया अब थमने जा रही है। विद्यार्थियों के पास पीजी कक्षाओं में दाखिला लेने के लिए बस एक दिन का समय ही शेष बचा हुआ है। ऐसे में दाखिला लेने के इच्छुक विद्यार्थी बिना देरी किए, ओपन काउंसलिग में भाग लें। साथ ही स्नातकोत्तर संकायों में दाखिला लेने का यह अंतिम मौका है। इसलिए विद्यार्थियों को देरी नहीं करनी चाहिए। बता दें कि 5 अक्टूबर से स्नातकोत्तर संकायों में दाखिला प्रक्रिया चल रही है। पहले आनलाइन आवेदन मांगे और फिर मेरिट लिस्ट के आधार पर दाखिले हुए। वहीं, अब बची हुई सीटों पर 12 नवंबर से ओपन काउंसलिग चल रही है। ओपन काउंसलिग करीब 20 दिन चलने के बाद अब 30 नवंबर से थम जाएगी। ऐसे में स्नातकोत्तर संकायों में दाखिला लेने के लिए विद्यार्थियों के पास मंगलवार तक का ही समय है। फिलहाल, काफी कम विद्यार्थी ही प्रतिदिन स्नातकोत्तर संकायों में दाखिले के लिए कालेजों पहुंचकर ओपन काउंसलिग में भाग ले रहे हैं। इसी कड़ी में दाखिले से वंचित सभी विद्यार्थियों के पास 30 नवंबर तक ही दाखिले का विकल्प खुला है। जिला की बात करें तो पांच कालेजों में ही स्नातकोत्तर संकायों की कक्षाएं हैं। इनमें राजकीय स्नातकोत्तर नेहरू महाविद्यालय झज्जर, राजकीय महाविद्यालय बादली, राजकीय महाविद्यालय बिरोहड़, महाराजा अग्रसेन महिला महाविद्यालय झज्जर तथा वैश्य आर्य कन्या महाविद्यालय बहादुरगढ़ शामिल हैं। जिले के इन कालेजों के कुछ संकायों में अभी भी सीटें रिक्त बची हुई हैं। पीजी कक्षाओं में उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा ओपन काउंसलिग के माध्यम से दाखिला का विकल्प दिया गया है। वहीं स्नातक संकायों में दाखिला प्रक्रिया पहले ही थम चुकी है। स्नातक संकायों में ओपन काउंसलिग के माध्यम से दाखिला लेने की अंतिम तिथि 22 नवंबर निर्धारित की गई थी। साथ ही कालेजों में द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों की दाखिला प्रक्रिया भी चली। जो 26 नवंबर को समाप्त हो चुकी है। अब केवल स्नातकोत्तर संकायों में ओपन काउंसलिग के माध्यम से दाखिले का अंतिम मौका बचा हुआ है।

Edited By: Jagran